अपने मुखपत्र ‘सामना’ के जरिए शिवसेना ने ‘हरामखोरी’ को लेकर फिर से कहा कुछ ऐसा

नई दिल्ली। फिल्म अभिनेत्री कंगना रनौत(Kangna Ranaut) और संजय राउत(Sanjay Raut) के बीच चल रही जुबानी जंग के बीच अब शिवसेना(Shivsena) ने अपने मुखपत्र सामना में एक लेख के जरिए फिर से हरामखोरी शब्द का प्रयोग कर कुछ फिल्म कलाकारों और मीडिया के लोगों पर निशाना साधा है। यह पहला मौका नहीं है कि जब शिवसेना की तरफ से इस शब्द का इस्तेमाल किया गया हो। इससे पहले शिवसेना सांसद संजय राउत ने कंगना रनौत को हरामखोर लड़की कह दिया था। विवाद बढ़ने पर राउत ने हरामखोर का मतलब नॉटी बताया था।

आपको बता दें कि बुधवार को सामना के एक लेख लिखा गया है कि, “राजनीतिक एजेंडे को सामने लाने के लिए देशद्रोही पत्रकार और सुपारीबाज कलाकारों के राजद्रोह का समर्थन करना भी ‘हरामखोरी’ ही है।” इसके अलावा आज के लेख में हिंदुत्व और संस्कृत को लेकर लिखा गया है कि, “हिंदुत्व और संस्कृत का धर्म और 106 शहीदों के त्याग का अपमान किया गया तथा ऐसा अपमान करके छत्रपति शिवराय के महाराष्ट्र पर नशे की पिचकारी फेंकने वाले व्यक्ति को केंद्र सरकार विशेष सुरक्षा की पालकी का सम्मान दे रही है।”

 

sanjay raut kangana

सामना के जरिए भाजपा से सवाल करते हुए लिखा गया है कि, “अहमदाबाद, गुड़गांव, लखनऊ, वाराणसी, रांची, हैदराबाद, बेंगलुरु और भोपाल जैसे शहरों के बारे में अगर कोई अपमानजनक बयान देता तो केंद्र ने उसे वाई सुरक्षा की पालकी दी होती क्या? यह महाराष्ट्र के भाजपाई स्पष्ट करें।”

Sanjay Raut, Shiv Sena

वहीं ताजा जानकारी के मुताबिक अभिनेत्री कंगना रनौत मंडी जिले के भानवाला गांव से चंडीगढ़ के लिए निकल चुकी हैं। जहां से वे चंडीगढ़ से मुंबई के लिए रवाना होंगी। बता दें कि इस विवाद में संजय राउत की धमकी के बाद कंगना ने मुंबई जाने का ऐलान किया था।

उन्होंने कहा था कि वो 9 सितंबर को मुंबई(Mumbai) आ रही हैं और किसी में हिम्मत है तो उन्हें रोककर दिखाए। ऐसे में कंगना आज मुंबई पहुंचेंगी, देखना ये है कि उनके मुंबई पहुंचने पर महाराष्ट्र सरकार की तरफ से क्या एक्शन लिया जाता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *