एक तरफ पंजाब के किसान अंबानी का विरोध कर रहे हैं दूसरी तरफ कर्नाटक में रिलायंस ने MSP से कहीं अधिक मूल्य पर खरीदे धान

नई दिल्ली। APMC ऐक्ट में संशोधन के बाद कर्नाटक (Karnataka) में रिलायंस रिटेल लिमिटेड (Reliance Retail Limited) की बड़ी डील हुई है। दरअसल, रिलायंस ने सिंधनूर तालुक के किसानों से एक हजार क्विंटल सोना मंसूरी धान की खरीद की डील की है। पहले केवल तेल का व्यापार करने वाली कंपनी ने अब धान की खरीद और बिक्री भी शुरू की है। करीब 1100 धान किसान इसके साथ रजिस्टर्ड हैं। रिलायंस रिटेल के अनुबंध के अनुसार फसल में 16 प्रतिशत से भी कम नमी रहनी चाहिए।

कंपना ने सोना मंसूरी के लिए 1950 रुपये दाम की पेशकश की जो कि सरकार के तय MSP रेट (1868 रुपये) से 82 रुपये अधिक है। SFPC और किसानों के बीच समझौते के अनुसार प्रति 100 रुपये के ट्रांजैक्शन पर SFPC को 1.5 प्रतिशत कमीशन मिलेगा। किसानों को फसल को पैक करने के लिए बोरे के साथ ही सिंधनौर स्थित वेयरहाउस तक ट्रांसपॉर्ट का खर्च भी वहन करना होगा।

SFPC के मैनेजिंग डायरेक्टर मल्लिकार्जुन वल्कालदिन्नी के मुताबिक, ”एक बार गुणवत्ता की संतुष्टि मिलने पर रिलायंस के एजेंट फसल को उपलब्ध कराएंगे। अभी वेयरहाउस में 500 क्विंटल धान स्टोर है। खरीद के बाद रिलायंस पैसे को SFPC को ऑनलाइन पेमेंट कर देगा, जो पैसे को किसानों के खाते में सीधे जमा करेगा।”

reliance1

हालांकि इस कदम से हर कोई खुश नहीं है। इस मामले को लेकर कर्नाटक राज्य रैथा संघ के अध्यक्ष चमारासा मालिपाटिल ने बताया कि कॉर्पोरेट कंपनियां पहले तो किसानों को MSP से अधिक दाम का ऑफर कर लालच देंगी। इससे एपीएमसी मंडियों का नुकसान होगा। फिर बाद में किसानों का उत्पीड़न शुरू होगा। हमें इस तरह की चाल से सावधान रहना चाहिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *