कोरोनावायरस से निपटने के लिए तत्पर गुजरात सरकार, सीएम खुद कर रहे समीक्षा

नई दिल्ली/ अहमदाबाद। गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रूपाणी और उप मुख्यमंत्री नितिन पटेल ने भावनगर जिले में कोरोनावायरस के नियंत्रण के साथ-साथ संक्रमण के संबंध में समग्र स्थिति का आकलन करने के लिए जिला प्रशासनिक अधिकारियों के साथ-साथ जन प्रतिनिधियों के साथ एक समीक्षा बैठक की अध्यक्षता की और इस संबंध में आवश्यक निर्देश भी दिए।

मीडिया को संबोधित करते हुए सीएम रूपाणी ने कहा कि राज्य सरकार पूरी ताकत के साथ काम कर रही है। जब राज्य में पहला कोरोनावायरस संक्रमण का मामला दर्ज किया गया था तब से सरकार काम कर रही है और लगातार इस कोशिश में हैं कि कोरोना के प्रसार को रोका जा सके और संक्रमित लोगों को समुचित इलाज मुहैया हो।

CM VIJAY RUPANI GUJRAT

उन्होंने बताया कि इसको लेकर पिछले पांच महीनों से हर शाम एक उच्चस्तरीय बैठक मेरे आवास पर आयोजित की जाती है और विभिन्न निर्णय लिए जाते हैं और उन्हें लागू किया जाता है।

Vijay Rupani Nitin Patel

मुख्यमंत्री ने कहा कि स्थिति की सही समीक्षा हो इसके लिए एक सप्ताह में कम से कम दो जिलों का दौरा किया जाता है और जानकारी प्राप्त करने के साथ एहतियाती कदमों के लिए परामर्श देने के अलावा सक्रिय रूप से इसकी निगरानी भी की जाती है। मुख्यमंत्री ने कहा कि कोरोना का संक्रमण प्रदेश में नियंत्रण में है हमारे पास पर्याप्त इंजेक्शन भी उपलब्ध है। इंजेक्शन के कुल आयात में से 55% केवल गुजरात द्वारा आयात किया गया है।

राज्य में कोरोना परीक्षण की संख्या लगातार बढ़ाई जा रही है। विश्व स्वास्थ्य संगठन के अनुसार प्रत्येक 10 लाख लोगों पर 400 लोगों का परीक्षण अनिवार्य है जो किया जा रहा है। वर्तमान में राज्य में हर दिन लगभग 25000 की संख्या में लोगों का परीक्षण किया जा रहा है। मुख्यमंत्री ने भावनगर शहर में धनवंतरी रथ के माध्यम से घनी आबादी वाले इलाकों में जाकर लोगों के स्वास्थ्य की जांच करने का निर्देश दिया। यह राज्य सरकार की एक अनूठी पहल है, जिसे विश्व स्वास्थ्य संगठन ने भी सराहा है। मुख्यमंत्री ने कहा कि भावनगर जिले में कोरोना परीक्षणों की संख्या बढ़ाई जाएगी और जिले की सीमा पर चेकपोस्टों पर स्क्रीनिंग की जाएगी।

मुख्यमंत्री ने स्पष्ट किया कि कोविड समर्पित अस्पताल सहित राज्य भर के अस्पतालों में अग्नि सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए आदेश जारी किए गए हैं। उन अस्पतालों के खिलाफ भी सख्त कार्रवाई का निर्देश दिया गया है जहां अग्नि सुरक्षा प्रावधानों का अनुपालन नहीं किया जाता है।

Vijay Rupani

सीएम रूपाणी ने कहा कि गुजरात में 75.4 प्रतिशत की रिकवरी दर और 3.5 प्रतिशत की मृत्यु दर है और अन्य राज्यों की तुलना में गुजरात देश में 12 वें स्थान पर है। उन्होंने मीडिया से से कहा कि वह नागरिकों से सामाजिक दूरी बनाए रखने, मास्क का अनिवार्य रूप से उपयोग करने और लगातार हाथ धोने और स्वच्छता की अच्छी आदतों को अपने अंदर उतारने के प्रति जागरूकता फैलाने का काम करे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *