कोरोना काल में फिर बदले गए स्वास्थ्य विभाग के प्रधान सचिव, विपक्ष भड़का

पटना। बिहार में कोरोना संक्रमितों की संख्या तेज रफ्तार से बढ़ने पर विपक्ष के निशाने पर आई सरकार ने राज्य के स्वास्थ्य विभाग के प्रधान सचिव उदय सिंह कुमावत को हटा दिया है। उनकी जगह पर भारतीय प्रशासनिक सेवा के अधिकारी प्रत्यय अमृत को यह जिम्मेदारी दी गई है। इससे पहले, कोरोना काल में ही सरकार ने प्रधान सचिव संजय कुमार को हटाकर कुमावत को जिम्मेदारी दी थी, जिसकी आलोचना भी हुई थी।

सामान्य प्रशसन विभाग द्वारा जारी अधिसूचना के मुताबिक, कुमावत को परामर्शी, बिहार राज्य योजना पर्षद की जिम्मेदारी दी गई है। इधर, प्रत्यय अमृत को स्वास्थ्य विभाग का प्रधान सचिव बनाया गया है। अधिसूचना में कहा गया है कि अमृत प्रधान सचिव, आपदा प्रबंधन विभाग में बने रहेंगे, जबकि अध्यक्ष और प्रबंध निदेशक, बिहार स्टेट पॉवर (होल्डिंग) कंपनी लिमिटेड, पटना के अतिरिक्त प्रभार से मुक्त हो जाएंगे।

इधर, राष्ट्रीय जनता दल (राजद) ने स्वास्थ्य विभाग के प्रधान सचिव के लगातार स्थानांतरण को लेकर सरकार पर निशाना साधा है। राजद नेता और पूर्व उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने ट्वीट कर इशारों ही इशारों में लिखा, “धूल चेहरे पर जमी है और वो आइने बदल रहे हैं। बिहार इकलौता ऐसा प्रदेश है, जहां कोरोना काल में स्वास्थ्य विभाग को तीसरा प्रधान सचिव मिला है। अब आपदा, स्वास्थ्य और ऊर्जा विभाग एक ही अधिकारी देखेंगे। बाकी सब शायद नाकाबिल हैं, क्योंकि कारण सब जानते हैं। नीतीश जी, काल कोठरी से निकलिए।”

एक अन्य ट्वीट में तेजस्वी ने स्वास्थ्य मंत्री ललन पांडेय को हटाने की मांग करते हुए लिखा, “मुख्यमंत्री जी, सबसे पहले अपने महा असफल स्वास्थ्य मंत्री को हटाइए, जिनके कार्यकाल में कितनी बहनों का सुहाग छिन गया, कितनी मांओं की कोख सूनी हो गई। चमकी से लेकर कोरोना में उन्होंने लापरवाही और अगंभीरता की पराकाष्ठा पार की है। वाह! ताली आप बटोरिएगा और गाली प्रधान सचिव।”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *