जिसका एक बेटा अफसर दूसरा नेता, वो महिला मिली सड़कों पर, सिर में पड़े थे कीड़े

नई दिल्ली। आज की दुनिया संतान के लिए लोग ना जाने क्या-क्या जतन करते हैं, और कई धार्मिक चौखटों पर माथा टेकते कि उन्हें एक संतान वो भी बेटे के रूप में मिल जाए। लेकिन तब ये सारी आस्थाएं और उम्मीदें धूमिल हो जाती हैं जब वहीं बेटे अपने मां-बाप की सुध लेना नहीं चाहते। पंजाब के बठिंडा से एक ऐसी बूढ़ी मां सड़कों पर मिली, जिसकी हालत बेहद दरिद्र रूप की थी और उसके सिर में कीड़े पड़े मिले।

Old Woman Punjab

बठिंडा में कुछ लोगों को सड़क किनारे के खाली मैदान में 80 साल की एक बुजुर्ग महिला दरिद्र अवस्था में मिली। महिला के सिर में कीड़े पड़े हुए थे. एनजीओ और पुलिस की मदद से लोगों ने उसे अस्पताल में भर्ती कराया। जब उसके परिवार की छानबीन की गई तो लोग जानकर हैरान रह गए। महिला के बारे में जानकारी मिली है कि, 80 साल की बुजुर्ग एक बेहद अच्छे परिवार की महिला थी। उसका एक बेटा बड़ा सरकारी अफसर है और दूसरा बड़ा राजनेता है। मुक्तसर गांव की ओर जाती हुई सड़क के किनारे बने खुले मैदान में बुजुर्ग पड़ी हुई मिली। बूढ़ी महिला के सिर में कीड़े पड़े हुए थे और उसकी हालत बहुत खराब थी। जैसे ही लोगों ने महिला को देखा तो उन्होंने तुरंत एनजीओ और पुलिस को मामले की जानकारी दी।

बूढ़ी महिला की जानकारी मिलते ही एनजीओ और पुलिस मौके पर पहुंची। उन्होंने महिला को तुरंत ही सिविल हॉस्पिटल में भर्ती करवाया। लोगों का कहना है कि महिला काफी दिनों से सड़क किनारे खाली मैदान में ईंटों की झोपड़ी बनाकर रह रही थी। लोगों ने जब महिला को देखा तो उसकी दयनीय स्थिति देखकर आंखों में आंसू आ गए।

Old Woman Punjab death

अब इस बूढ़ी मां के बेटों के बारे में जान लीजिए…इस बदनसीब मां का एक लड़का बड़ा सरकारी अफसर है और दूसरा बड़ा राजनेता है। सिविल हॉस्पिटल में भर्ती कराने के बाद उसके परिवार के बारे में पता करवाया गया तो ये जानकारी मिली कि दोनों बेटों का समाज में अच्छा रुतबा है। लेकिन ऐसे रुतबे का क्या फायदा जब मां सड़कों पर सांसे ले रही हो।

सिर्फ बेटे ही नहीं बल्कि उस महिला की पोती भी क्लास वन ऑफिसर है। बता दें बीते शुक्रवार को एनजीओ ने बूढ़ी महिला को अस्पताल में भर्ती कराया था, जिसके बाद इस मामले का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया। वायरल वीडियो को देखकर लोगों ने बूढ़ी महिला के परिवार की जानकारी दी। इसके बाद बूढ़ी महिला को एक बेटा अपने साथ फरीदकोट ले गया लेकिन सोमवार सुबह उनकी मौत हो गई, जिसके बार परिवार ने गुपचुप तरीके से महिला का अंतिम संस्कार कर दिया। महिला की पोती एक पुलिस अफसर है जिसकी वजह से पुलिस भी इस मामले में कुछ बोलने के लिए तैयार नहीं है और न ही किसी ने मामला दर्ज कराया। साथ ही परिवार के सदस्य भी सवालों से बचते हुए नजर आए।

Punjab Road Old Woman

वहीं, इलाके के लोग कई तरह के सवाल उठा रहे हैं। उनका कहना है कि आखिर दोनों बेटों ने अपनी मां को ऐसी हालत में कैसे छोड़ दिया। लोगों का कहना है कि माता-पिता इतनी मेहनत से अपने बच्चों को पढ़ाते हैं ताकि उनका बुढ़ापा भी अच्छे से कटे लेकिन जिस तरह से उस परिवार ने बूढ़ी महिला को सड़क पर छोड़ा है वह काफी दर्दनाक है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *