प्रमुख आर्थिक आंकड़ों से शेयर बाजार को मिलेगी दिशा, विदेशी संकेतों का रहेगा असर

मुंबई। घरेलू शेयर बाजार की चाल इस सप्ताह प्रमुख आर्थिक आंकड़ों, मानसून की प्रगति, विदेशी बाजार के संकेतों और देसी कंपनियों के वित्तीय नतीजों से तय होगी। देश के औद्योगिक उत्पादन और महंगाई दर जैसे प्रमुख आर्थिक आकड़े इस सप्ताह जारी होने वाले हैं, जिससे शेयर बाजार को दिशा मिल सकती है। वहीं, विदेशी बाजार से मिलने वाले संकेतों का असर लगातार बना रहेगा। बीते सप्ताह घरेलू शेयर बाजार तेजी के साथ बंद हुआ।

कोरोना काल में जून के दौरान देश की औद्योगिक गतिविधियां किस प्रकार चल रही थीं, इसकी जानकारी इस सप्ताह मिलेगी। जून महीने के औद्योगिक उत्पादन के आंकड़े मंगलवार को जारी होंगे, जबकि खुदरा महंगाई दर के आंकड़े बुधवार को और थोक महंगाई दर के आंकड़े शुक्रवार को जारी होंगे। इन आंकड़ों का निवेशकों को इंतजार रहेगा।

इसके अलावा, मानसून की प्रगति पर भी बाजार की नजर होगी। चालू मानसून सीजन में एक जून से आठ अगस्त तक देश भर में मानसूनी बारिश सीजन के औसत के आसपास रही, लेकिन गुजरात, पूर्वी राजस्थान और पश्चिम उत्तर प्रदेश समेत मौसम विभाग के छह सब डिवीजन में औसत से 20 फीसदी या उससे भी अधिक बारिश का अभाव बना रहा, जो कि सूखे की स्थिति का सूचक है।

sensex nifty

वहीं, भारत पेटेलियम कॉरपोरेशन, पावरग्रिड कॉरपोरेशन समेत कई प्रमुख कंपनियां चालू वित्तवर्ष की पहली तिमाही के वित्तीय नतीजे जारी करेंगी जिसका असर शेयर बाजार पर देखने को मिल सकता है। बैंक ऑफ बड़ौदा और पावरग्रिड कॉरपोरेशन समेत कुछ कंपनियों के वित्तीय नतीजे सप्ताह के आरंभ में सोमवार को ही आने वाले हैं। इसके बाद मंगलवार को भी कई कंपनियों के वित्तीय नतीजे जारी होंगे। फिर बुधवार को टाटा पावर, अरबिंदो फार्मा जैसी कुछ कंपनियों के वित्तीय नतीजे जारी होंगे। अगले दिन गुरुवार को भारत पेटेलियम कॉरपोरेशन, गेल इंडिया, पावर फाइनेंस कॉरपोरेशन व अन्य कंपनियां अपने वित्तीय नतीजे जारी करेंगी। वहीं, शुक्रवार को हिंडाल्को इंडस्ट्रीज और बर्जर पेंट समेत कई कंपनियां चालू वित्तवर्ष की पहली तिमाही के अपने वित्तीय नतीजे जारी करेंगी।

उधर, विदेशी मोर्चे पर देखें तो चीन में जुलाई महीने की महंगाई दर के आंकड़े सोमवार को ही आएंगे, जबकि जुलाई महीने के ही चीन के औद्योगिक उत्पादन के आंकड़े शुक्रवार को जारी होंगे। इसके अलावा यूरोपीय क्षेत्र के भी कुछ प्रमुख आर्थिक आंकड़े इस सप्ताह जारी होंगे। इन आंकड़ों के अलावा शेयर बाजार पर कोरोना का साया भी बना रहेगा। भारत समेत दुनिया के अन्य देशों में कोरोनावायरस संक्रमण के मामले लगातार बढ़ रहे हैं और कोरोना से मिल रही आर्थिक चुनौतियों से निपटने के लिए विभिन्न देशों द्वारा किए जा रहे उपायों का असर बाजार पर देखा जा रहा है। खासतौर से अमेरिका के प्रोत्साहन पैकेज और अमेरिका-चीन के बीच तनाव का प्रभाव इस सप्ताह शेयर बाजार पर बना रहेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *