बरोदा उपचुनाव भाजपा, जजपा मिलकर लड़ेंगे: Khattar

सोनीपत।हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने शनिवार को सोनीपत के गोहाना में ऐलान किया कि बरोदा विधानसभा का उपचुनाव से भारतीय जनता पार्टी और जन नायक पार्टी मिलकर चुनाव लडेंगी।

श्री खSर ने यह ऐलान गोहाना में आयोजित प्रेस वार्ता में कहा कि भाजपा और जजपा गठबंधन को लेकर विपक्ष गलत भ्रांतियां फैला रहा है। गठबंधन पहले से ज्यादा मजबूत हुआ है। मुख्यमंत्री ने पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिह हुड्डा पर निशाना साधते हुए कहा कि उन्होंने 1० साल तक केवल किलोई की याद आई, बरोदा की तरफ ध्यान ही नहीं दिया। उन्होंने कहा कि गोहाना-बरोदा में छह साल में सरकार ने साढèे पांच सौ करोड़ रुपये खर्च किए। सोनीपत-गोहाना-जींद ग्रीन हाईवे का काम शुरू हो चुका है और कुंडली-अमृतसर हाईवे की एलांइमेंट जल्द शुरू होगी। इससे जम्मू जाने वालों का सफर चार घंटे कम होगा और आठ घंटे में पहुंच सकेंगे।
फिलहाल मुख्यमंत्री ने गठबंधन के उम्मीदवार को लेकर भी कोई संकेत नहीं दिया।

श्री खट्टरने श्री हुड्डा पर निशाना साधते हुए कहा कि ये तो अपने घर में ही चौधर लिए बैठे हैं। बापू-बेटा पहले लोकसभा चुनाव हार गए और जब राज्यसभा की बारी आई तो पूरे हरियाणा में कोई और नेता नहीं मिला, फिर दीपेंद्र को राज्यसभा भेज दिया।
श्री खट्टर ने कहा कि कांग्रेस हमेशा दिखाने वाली पार्टी रही है। लुटेरे केवल लूट की बात करते हैं।

किसान बिल पर ये जनता को बरगलाने में लगे हैं। हरियाणा के हर खेत की ट्रैकिग करवाई जाएगी और सरकार के पास किसान की हर फसल का ब्यौरा होगा। जीरो प्रतिशत ब्याज पर किसानों को लोन दिलाया जाएगा। खSर ने कहा कि अब तक 11 लाख मीट्रिक टन धान खरीदी जा चुकी है। 443 करोड़ रुपये फसल खरीद के लिए जारी हो चुके हैं। वहीं, मूंगफली की फसल भी हम पहली बार खरीदेगे, जिसका एमएसपी 5275 रुपये रहेगा। कांग्रेस को निशाने पर लेते हुए कहा कि इसका विरोध करने वाली कांग्रेस के पास अब कोई मुद्दा नहीं बचा है। जबकि कुछ कथित किसान नेता ही राजनीतिक लोगों के बहकावे में आकर किसानों को भड़का रहे हैं। हमारे भोले-भाले किसान भी उनके बहकावे में आ रहे हैं। उन्हें मैं सतर्क करना चाहता हूं कि वे विरोधियों की राजनीति का मोहरा न बनें। उनके अनुसार प्रदेश सरकार अब किसानों को इन अध्यादेशों के प्रति उन्हें जागरूक बनाएगी। जबकि प्रदेश का किसान भी अब इन अध्यादेशों का फायदा समझने लगा है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि कांग्रेस के घोषणा पत्र में कृषि संबंधी अधिनियमों में बदलाव का वादा किया गया था। मगर हैरानी की बात है कि अब जब हम इन अधिनियमों में सुधार कर रहे हैं तो कांग्रेसियों को दिक्कत क्यों हो रही है। इन अध्यादेशों से किसानों के लिए एक दूसरी राह खुली है न कि पहली राह बंद हुई है। दिक्कत तो तब होती जब पहली राह बंद होती। पहली राह में किसान चाहे तो अपना अनाज मंडियों में न समर्थन मूल्य पर बेचे और दूसरी राह में चाहे तो किसान अपना अनाज मंडियों से बाहर न्यूनतम समर्थन मूल्य से भी अधिक दाम पर प्राइवेट ट्रेडर्स को बेचे। उसमें उसे मार्केट फीस भी नहीं देनी और न ही कोई अन्य कर देना होगा। अब कांग्रेस और कुछ कथित किसान नेता बताएं,कैसे यह बदलाव किसान विरोधी हो सकता है। जब किसानों के लिए दोनों रास्ते खुले हैं। किस रास्ते पर चलना है यह किसान की मर्जी, उस पर कोई दबाव नहीं।

उन्होंने कहा कि सरकार का काम यह सुनिश्चित करना कि मंडियों के भीतर या मंडियों के बाहर किसानों का अनाज न्यूनतम समर्थन मूल्य से कम मूल्य पर न बिके। किसानों से अपील करते हुए कहा कि इन अध्यादेशों को अच्छे से समझें और सरकार का सहयोग करें। यह उनके लिए उनकी खेती को फायदे का सौदा बनाने वाले हैं। श्री खट्टर ने किसानों को भरोसा दिलाया है कि उनकी फसल का एक-एक दाना न्यूनतम समर्थन मूल्य पर खरीदा जाएगा। उन्होंने कहा कि कॉन्ट्रेक्ट फार्मिंग में एमएसपी से नीचे कोई कॉन्ट्रेक्ट नहीं होगा। हरियाणा में अभी भी कुछ जिलों में 333 कॉन्ट्रेक्ट फार्मिंग हो रही है, जिसमें सिरसा में 11०० एकड़, फतेहाबाद में 35० एकड, भिवानी में 9०० एकड़ और गुरुग्राम में 321 एकड़ भूमि पर कॉन्ट्रेक्ट फार्मिंग होती है। यह एक सफल प्रयोग है।

इसके उपरांत मुख्यमंत्री ने गोहाना और सोनीपत में कार्यकर्ताओं की बैठक लेकर बरोदा उपचुनाव में जीत पक्की करने के लिए कमर कसने का आह्वान किया। इस दौरान सीएम ने लोक जनशक्ति पार्टी के संस्थापक रामविलास पासवान को श्रद्धांजलि दी।
मंच पर करनाल से सांसद संजय भाटिया, सोनीपत से सांसद रमेश कौशिक,राज्यसभा सांसद रामचंद्र जांगड़ा, कृषि मंत्री जेपी दलाल, विधायक निर्मल चौधरी,जजपा नेता के. सी. बांगड मौजूद थे।(एजेंसी)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *