राज्य में अब तक 112 करोड़ के लघु वनोपजों का संग्रहण

वर्तमान में न्यूनतम समर्थन मूल्य पर 31 लघु वनोपजों की खरीदी

रायपुर. कोरोना संक्रमण काल के बीच प्रदेश में लघु वनोपजों (Forest Produce Storage) की खरीदी की प्रक्रिया जारी है। प्रदेश में अब 112 करोड़ 21 लाख रूपए की राशि के 4 लाख 74 हजार 667 क्विंटल लघु वनोपजों का संग्रहण हो चुका है। गौरतलब है कि राज्य में वर्तमान में 31 विभिन्न लघु वनोपजों का संग्रहण न्यूनतम समर्थन मूल्य पर किया जा रहा है।

छत्तीसगढ़ राज्य लघु वनोपज सहकारी संघ के प्रबंध संचालक संजय शुक्ला ने बताया कि अब तक अपने निर्धारित लक्ष्य के 70 प्रतिशत से अधिक संग्रहण (Forest Produce Storage) वनमंडल केशकाल, दक्षिण कोण्डागांव और धमतरी द्वारा किया गया है। इनमें वन मंडलवार केशकाल में लक्ष्य का 95 प्रतिशत तक 15 करोड़ रूपए की राशि के 72 हजार 61 क्विंटल, दक्षिण कोण्डागांव में 81 प्रतिशत तक 21 करोड़ रूपए के 1 लाख 1 हजार 317 क्विंटल तथा धमतरी में 72 प्रतिशत तक 4 करोड़ रूपए के 16 हजार 25 क्विंटल लघु वनोपजों का संग्रहण हो चुका है।

लाखों क्विंटल का संग्रहण

इसी तरह नारायणपुर में 6 करोड़ रूपए के 21 हजार 202 क्विंटल, पूर्व भानूप्रतापुर में 6 करोड़ रूपए के 26 हजार 128 क्विंटल, जगदलपुर में 18 करोड़ रूपए के 64 हजार 274 क्विंटल तथा गरियाबंद में 4 करोड़ रूपए के 20 हजार 768 क्विंटल लघु वनोपजों का संग्रहण किया गया है।

वन मंडलवार दंतेवाड़ा में 4 करोड़ रूपए के 12 हजार 339 क्विंटल, रायगढ़ में 3 करोड़ रूपए के 9 हजार 403 क्विंटल, सुकमा में 3 करोड़ रूपए के 12 हजार 114 क्विंटल, बीजापुर में 3 करोड़ रूपए के 8 हजार 998 क्विंटल तथा बालोद में 32 लाख रूपए के 1 हजार 411 क्विंटल लघु वनोपजों का संग्रहण हो चुका है।

कांकेर में 2 करोड़ रूपए के 9 हजार 119 क्विंटल, पश्चिम भानूप्रतापपुर में 2 करोड़ रूपए के 4 हजार 936 क्विंटल, कटघोरा में 2 करोड़ रूपए के 4 हजार 473 क्विंटल, कवर्धा में 2 करोड़ रूपए के 7 हजार 889 विक्वंटल लघु वनोपजों का संग्रहण हो चुका है।

बिलासपुर वनमंडल में इतनी खरीददारी

वन मंडलवार बिलासपुर में 85 लाख रूपए के 2 हजार 273 क्विंटल, कोरबा में 4 करोड़ रूपए के 12 हजार 160 क्विंटल, राजनांदगांव में 19 लाख रूपए के 697 क्विंटल, धरमजयगढ़ में 4 करोड़ रूपए के 16 हजार 599 क्विंटल तथा मनेन्द्रगढ़ में 61 लाख रूपए के 1 हजार 940 क्विंटल लघु वनोपजों का संग्रहण किया गया है।

महासमुंद में 17 लाख रूपए के 397 क्विंटल, बलरामपुर में 88 लाख रूपए के 3 हजार 265 क्विंटल, कोरिया में 67 लाख रूपए के 2 हजार 590 क्विंटल, जशपुर में 4 करोड़ रूपए के 19 हजार 393 क्विंटल लघु वनोपजों का संग्रहण किया जा चुका है। वन मंडलवार मरवाही में 2 करोड़ रूपए के 6 हजार 916 क्विंटल, बलौदाबाजार में 26 लाख रूपए के 1 हजार 290 क्विंटल, सूरजपुर में 91 लाख रूपए के 3 हजार 493 क्विंटल, खैरागढ़ में 93 लाख रूपए के 4 हजार 175 क्विंटल तथा सरगुजा में 1 करोड़ 41 लाख रूपए के 6 हजार 930 क्विंटल लघु वनोपजों का संग्रहण (Forest Produce Storage) हो चुका है।

देश-प्रदेश की खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें…..



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *