राज्य सरकार की लापरवाही से अब कोरोना सामुदायिक संक्रमण का ख़तरा मंडरा रहा : साय

रायपुर. भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष विष्णुदेव साय ने तीखा हमला बोलकर प्रदेश सरकार पर कोरोना संक्रमण को छत्तीसगढ़ में विस्फोटक स्तर पर पहुँचा देने के लिए ज़िम्मेदार ठहराया है। प्रदेश सरकार की इसी लापरवाही के चलते छत्तीसगढ़ अब कम्युनिटी ट्रांसमिशन (सामुदायिक संक्रमण) की दिशा में बढ़ रहा है और प्रदेश पर एक बड़ा ख़तरा इस महामारी के चलते मंडरा रहा है।

श्री साय ने राज्य में कोरोना संक्रमितों की संख्या में लगातार तेज़ी से हो रहे इज़ाफ़े पर चिंता जताते हुए कहा कि यह प्रदेश सरकार शुरू से इस महामारी को लेकर लापरवाह रही है और अब भी वह सियासी दावपेच में तल्लीन है। घर-घर तक पहुँच रहे कोरोना संक्रमण की रोकथाम को लेकर प्रदेश सरकार अब भी सिर्फ़ ड्रामेबाजी कर जनस्वास्थ्य के साथ क्रूर खिलवाड़ कर रही है।

भाजपा प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि प्रदेश की राजधानी में ही अनलॉक होते ही यदि 33 गुना कोरोना संक्रमितों की संख्या बढ़ गई है और आँकड़ा 500 पार हो चुका है तो प्रदेश के दूरस्थ इलाकों की स्थिति का अनुमान सहज ही लगाया जा सकता है। एक ही दिन में 111 नए मामलों का सामने आना यह बताता है कि प्रदेश सरकार इस महामारी के प्रति कितने घातक स्तर तक की लापरवाही बरत रही है! श्री साय ने इस बात पर भी चिंता जताई है कि प्रदेश से जो लोग बाहर से आ रहे हैं और जिन्हें नियमत: क्वारेंटाइन किया जाना चाहिए, उन्हें क्वारेंटाइन करने के मामले में भी प्रदेश सरकार पूरी तरह उदासीन है। कोलकाता से आकर कोई फेरी लगा रहा है तो कोई और कुछ दीग़र कामों में लगकर संक्रमण फैला रहा है। प्रदेश सरकार की यही उदासीनता प्रदेश के लोगों की जान की दुश्मन बन गई है और मुख्यमंत्री भूपेश बघेल व उनकी पूरी सरकार इस महामारी के प्रति पूरी तरह संवेदनहीन हो चली है।

भाजपा प्रदेश अध्यक्ष श्री साय ने कहा कि यह हैरत की बात है कि जिस महामारी की आहट मिलते ही छत्तीसगढ़ को महफ़ूज़ रखने की तैयारियाँ प्रदेश सरकार की ज़िम्मेदारी थी, अपनी उस ज़िम्मेदारी को पूरा करने के बजाय वह सियासी नौटंकियाँ और चिठ्ठीबाजी में ही वक़्त जाया करती रही और आज भी हालत यह है कि इस कांग्रेस सरकार को यह समझ ही नहीं आ रहा है कि कौन कहाँ से आ रहा है, कहाँ जा रहा है, क्या कर रहा है, किसे कोरोना है, किसी को कोरोना संक्रमण कैसे हुआ है? कोरोना की जाँच के पुख्‍ता इंतज़ाम आज भी यह प्रदेश सरकार नहीं कर पाई है। श्री साय ने कहा कि इतना होने के बाद भी मुख्यमंत्री बघेल न तो इस महामारी को रोकने के मामले में ज़रा भी गंभीर नज़र आ रहे हैं और न ही अपनी प्रशासनिक मशीनरी को इस बारे में कोई कोई सख़्त निर्देश देकर इस महामारी पर नियंत्रण के ज़रूरी उपायों पर अमल की दिशा में ध्यान दे रहे हैं। श्री साय ने कहा कि सियासी नौटंकियों में मुख्यमंत्री बघेल ऐसे रमे हुए हैं कि कोरोना संक्रमण को तो काबू कर नहीं पा रहे हैं, और ‘न रुका है, न रुकेगा छत्तीसगढ़’ जैसी जुमलेबाजी रोज़ करने में मशगूल हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *