लद्दाख गतिरोध के दौरान दिखाई Air Force ने अपनी क्षमता : वायु सेना प्रमुख

गाजियाबाद।वायु सेना प्रमुख एयर चीफ मार्शल आर के एस भदौरिया ने आज कहा कि वायु सेना सभी तरह की परिस्थितियों में राष्ट्र की संप्रभुता और हितों की रक्षा करने के लिए तत्पर है और पूर्वी लद्दाख में सैन्य गतिरोध के दौरान उसने अपनी संचालन क्षमता और कौशल का प्रदर्शन भी किया है।

एयर चीफ मार्शल भदौरिया ने यहां हिडन एयर बेस पर वायु सेना के 88 वें स्थापना दिवस पर वायुसेना कर्मियों को संबोधित करते हुए कहा, '' में देश को आश्वस्त करना चाहता हूं कि वायु सेना सभी परिस्थितियों में राष्ट्र की संप्रभुता और हितों की रक्षा करने के लिए मजबूती से तैयार है।

उन्होंने कहा कि 89 वें वर्ष में वायु सेना बड़े बदलाव के दौर से गुजर रही है। वायु सेना ऐसे युग में प्रवेश कर रही है जो यह तय करेगा कि हम एयरोस्पेस ताकत का कहां इस्तेमाल करें और एकीकृत बहुआयामी अभियान कहां चलाये जायें।

कोरोना महामारी के प्रकोप का जिक्र करते हुए उन्होंने इसे असाधारण बताया और कहा कि हमने स्थिति का डटकर मुकाबला किया है और पुख्ता कदम उठाये हैं। वायु सेना कर्मियों ने इस दौरान अपने संकल्प और प्रतिबद्धता का परिचय देते हुए पूरी क्षमता के साथ सभी अभियानों के लिए तैयारी रखी।

चीन के साथ पूर्वी लद्दाख में चल रहे सैन्य गतिरोध का जिक्र करते हुए उन्होंने वायु सेना कर्मियों की सराहना की और कहा कि बहुत थोड़े समय में उन्होंने जरूरी सैन्य साजो सामान को वहां पहुंचाया और सेना की सभी तरह की जरूरतों को पूरा कर अपनी संचालन क्षमता तथा रण कौशल का परिचय दिया। उन्होंने कहा कि हमें अपनी क्षमता को बढाना है और मौजूदा तथा भविष्य की चुनौतियों को ध्यान में रखते हुए अपने आपको एक ऐसे बल के रूप में बदलना है जो हर तरह की चुनौती से पार पा सके।

इस मौके पर उन्होंने वायु सेना रणबांकुरों को उनकी बहादुरी तथा सेवा समर्पण और कर्तव्यपरायणता के लिए पदकों से सम्मानित भी किया। इससे पहले उन्होंने भव्य परेड की सलामी ली और उसका निरीक्षण किया। उनके संबोधन के बाद राफेल सहित वायु सेना के विभिन्न विमानों ने करतबबाजी और अपनी ताकत तथा जौहर का प्रदर्शन किया।(एजेंसी)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *