सब्जी बेचने को मजबूर हुआ फिल्म डायरेक्टर

कोरोना के जारी लाकडाउन ने सभी की आर्थिक परिस्थितियां खराब कर दी है। मनोजरंजन जगत पर भी इसका खास असर पड़ा है। इस वजह से कुछ ऐसी ही जिंदगी जीने पर मजबूर हैं टीवी की दुनिया के मशहूर डायरेक्टर रामवृक्ष गौड़। बालिका वधू जैसे पॉप्युलर शो के डायरेक्टर रामवृक्ष गौड़ इन दिनों सब्जी बेचकर परिवार का खर्च उठाने के लिए मजबूर हैं।

रामवृक्ष गौड़ कुछ तो लोग कहेंगे, ज्योति और सुजाता जैसे 25 से अधकि टीवी सीरियल्स को डायरेक्टर चुके है। उत्तर प्रदेश के आजमगढ़ के रहने वाले रामवृक्ष लॉकडाउन से पहले अपने घर बेटियों की परीक्षा दिलवाने आए थे, लेकिन अब वहीं अटक गए हैं। बीते छह महीने में धीरे-धीरे सारा जमा पूंजी खत्म हो गई। मुंबई लौटना मुमकिन नहीं था, इसलिए घर का खर्च उठाने के लिए वह ठेले पर सब्जी लेकर सडक़ों की खाक छानने निकल पड़े।

रामवृक्ष बताते हैं कि कोरोना के कारण लॉकडाउन लग गया। फ्लाइट और ट्रेन की सर्विस बंद हो गई। इसलिए उन्हें आजमगढ़ जिले के निजामाबाद कस्बे के फरहाबाद में अपने घर पर ही रुकना पड़ा। साल 2002 में अपने दोस्त की मदद से मुंबई पहुंचे रामवृक्ष ने टीवी के फिल्मों के लिए भी काम किया है। यशपाल शर्मा, मिलिंद गुणाजी, राजपाल यादव, रणदीप हुडा, सुनील शेट्टी जैसे बड़े कलाकारों की फिल्मों में वह असिस्टेंड डायरेक्टर भी रह चुके हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *