स्वास्थ्य केंद्र पर महिला ने फर्श में बच्चे को दिया जन्म

CHMO ने लिया संज्ञान

रायपुर। राजधानी में पदस्थ डॉक्टरों और स्वास्थ्यकर्मियों ने एक बार फिर मानवता को शर्मसार (Shaming humanity) कर दिया है।

राजधानी से लगे बिरगांव स्वास्थ्य केंद्र में डॉक्टरों की लापरवाही से महिला की डिलीवरी स्वास्थ्य केंद्र के फर्श (Shaming humanity) में असहज परिस्थितियों में करानी पड़ी। महिला ने जब बच्चें को जन्म दिया, उस समय वहां डॉक्टर भी मौजूद नहीं थे। मामलें की जानकारी होने पर सीएचएमओ ने संज्ञान लिया है। सीएचएमओ में मामलें में स्वास्थ्य केंद्र में पदस्थ डॉक्टरों से स्पष्टीकरण मांगा है।

चादर से कवर नहीं कर पाए परिजन

महिला को उसके परिजन दोपहर को स्वास्थ्य केंद्र लेकर पहुंचे थे। महिला के परिजनों स्वास्थ्यकर्मियों से उसे भर्ती करने की अपील कर रहे थे, इस दौरान उसे लेबर पेन शुरू हो गया। परिजनों ने स्वास्थ्यकर्मियों के सामने मिन्नते की, लेकिन कोरोना संक्रमण के खौफ के चलते स्वास्थ्य केंद्र में मौजूद डॉक्टर-स्वास्थ्यकर्मियों ने उसे छुआ भी नहीं।

मामलें की जानकारी मीडिया को होने पर जब तूल पकडऩे लगा, तो स्वास्थ्य केंद्र के जिम्मेदार कोरोना का बहाना बनाते जवाब देने से बचते। मीडियाकर्मियों ने सीएचएमओ (Shaming humanity) को पूरी घटना के बारे में बताया है। सीएचएमओ ने मामलें की जांच कराने और कार्रवाई करने की बात कही है।

देश-प्रदेश की खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *