छत्तीसगढ़ में एक नवम्बर से शुरू होगी धान खरीदी

रायपुर, 30 सितम्बर 2022/ मुख्य सचिव अमिताभ जैन ने आज मंत्रालय महानदी भवन से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से बैठक लेकर सभी संभागायुक्त, जिला कलेक्टरों से एक नवम्बर 2022 से शुरू हो रहे धान खरीदी की तैयारियों की समीक्षा की। उन्होंने कलेक्टरों से धान खरीदी की सभी तैयारियां निर्धारित समय-सीमा में पूर्ण करने के निर्देश दिए है।

मुख्य सचिव ने फसलों की गिरदावरी की शुद्धि पर विशेष जोर दिया है। उन्होंने गिरदावरी का सत्यापन ग्राम सभा में करवाने के निर्देश कलेक्टरों को दिए हैं।

मुख्य सचिव ने कलेक्टरों से कहा कि किसी भी हालत में सरकारी जमीन का पंजीयन धान रकबे में नही हो यह सुनिश्चित किया जाए। पंजीकृत किसानों का लिकिंग बैंक खाता का परीक्षण करने एवं ऐसे किसान जिनका नामांतरण, बटवारा इस वर्ष हुआ है, उनके बैंक खातों का विशेष तौर पर परीक्षण कर बैंक खाता लिंक कर लिया जाए।

मिलर्स द्वारा उपार्जित फोर्टिफाईड राईस एफसीआई में जमा करने की समुचित व्यवस्था करने के भी निर्देश दिए है। मुख्य सचिव ने अंतर जिला कस्टम मिलिंग के संबंध में जिस जिले में अधिक संख्या में मिलर्स है वहां पर शीघ्रता से धान मिलिंग के लिए धान का परिवहन करने कहा गया एवं इसकी पहले से कार्ययोजना तैयार करने कहा है।

मुख्य सचिव ने बैठक में सभी जिला कलेक्टरों को धान खरीदी केन्द्रों में सभी जरूरी व्यवस्थाए मानव संसाधन, बिजली, पानी, कैप कव्हर, चबूतरा, टोकन, तौल मशीन, बारदाने आदि की शीघ्र व्यवस्था करने के निर्देश दिए है।

जैन ने खाद्य विभाग के सचिव से कहा है कि धान खरीदी की प्रक्रिया प्रारंभ होने से पूर्व सभी जिलों के तैयारियों की समीक्षा के लिए संभाग स्तर पर बैठक लेकर आवश्यक दिशा निर्देश दे और सुनियोजित रूप से धान खरीदी की व्यवस्था बनाए।

मुख्य सचिव ने कहा है कि धान की बिक्री के लिए पंजीकृत किसानों की गिरदावरी में धान के रकबे सहित सभी बिन्दुओं पर सही जानकारी अंकित की जाए। उन्होंने पिछले वर्षों की अपेक्षा इस वर्ष धान के स्थान पर अन्य फसल लेने वाले कृषकों की जानकारी विशेष रूप से अंकित करने के निर्देश दिए है।

इसी तरह से धान उपार्जन हेतु किसानों का पंजीयन, बैंक खातों का मिलान, समिति स्तर पर आवश्यक तैयारी, परिवहनकर्ता से अनुबंध की स्थिति, कस्टम मिलिंग, संवेदनशील खरीदी केन्द्रों एवं स्टॉफ की पहचान, अंतर जिला कस्टम मिलिंग एवं धान संग्रहण के समन्वय के संबंध में आवश्यक कार्यवाही करने कहा है।

मुख्य सचिव ने समिति स्तर पर धान खरीदी कार्य में लगने वाले सभी कर्मचारियों का प्रशिक्षण भी यथासमय करवाने के निर्देश दिए है। धान खरीदी प्रारंभ होने के पश्चात सप्ताह के अंत में खरीदी गए धान की मात्रा और बारदानों का भौतिक सत्यापन करने कहा गया है।

जिला स्तर पर धान खरीदी से जुड़ी सभी जानकारियों के साथ कंट्रोल रूम की स्थापना करने के निर्देश दिए है और कहा है कि कंट्रोल रूम सतत् रूप से कार्यशील होने चाहिए।

वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से आयोजित इस बैठक में सभी संभागायुक्त, सभी जिलों के कलेक्टर, खाद्य विभाग के सचिव श्री टोपेश्वर वर्मा, राजस्व सचिव श्री एन.एन. एक्का, प्रबंध संचालक राज्य नागरिक आपूर्ति निगम श्री निरंजन दास,

विशेष सचिव सहकारिता श्री हिमशिखर गुप्ता,, विशेष सचिव खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता संरक्षण श्री मनोज सोनी, प्रबंध संचालक मार्कफेड श्री समीर विश्नोई सहित अपेक्स बैंक के अधिकारी शामिल हुए।

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.