India

अहमदाबाद | राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू ने मंगलवार को कहा कि वैश्विक नवोन्मेष सूचाकांक में भारत की रैंकिग 81वें स्थान से बेहतर होकर 40वें स्थान पर आ गई है । राष्ट्रपति ने गुजरात विश्वविद्यालय द्बारा महिला उद्यमियों के लिये सृजित प्लेटफार्म 'हरस्टार्ट की शुरूआत करने के बाद अपने संबोधन में यह बात कही । मुर्मू ने कहा, '' मुझे सूचित किया गया है कि इस विश्वविद्यालय के 450 से अधिक स्टार्ट अप हैं । इनमें से 125 से अधिक की प्रमुख महिलाएं हैं । ' उन्होंने कहा, '' हरस्टार्ट प्लेटफार्म की शुरूआत करना मेरे लिये गर्व की बात है। यह उभरते हुए उद्यमियों के लिए सरकार की योजनाओं एवं निजी कोष के बीच सेतु का काम करेगा ।

राष्ट्रपति मुर्मू दो दिवसीय दौरे पर गुजरात आई हैं । राष्ट्रपति का पदभार ग्रहण करने के बाद यह उनकी पहली गुजरात यात्रा है।
मुर्मू ने स्टार्ट अप के महत्व को रेखांकित करते हुए कहा, ''हाल ही में वैश्विक नवोन्मेष सूचकांक 2022 में भारत का 4०वां स्थान आया जो पहले 81वां था। उन्होंने कहा कि स्टार्ट अप रोजगार के नये अवसर सृजित करने में भी मदद करेंगे । ज्ञात हो कि भारत ने 2015 के वैश्चिक नवोन्मेष सूचकांक में 81वां स्थान प्राप्त किया था जो ताजा सूचकांक में बेहतर होकर 40वां हो गया है।
राष्ट्रपति ने कहा कि पिछले दो दशकों में गुजरात ने काफी विकास किया है।

उन्होंने कहा, '' राज्य का अपना विकास का मॉडल है । अन्य राज्यों का भी अपना विकास का मॉडल है। मुझे विश्वास है कि भारत 'अमृतकाल (आजादी के 75वें वर्ष से 1००वें वर्ष के बीच) में विकसित देश के रूप में उभरेगा । राष्ट्रपति ने कहा कि डा. विक्रम साराभाई, इसरो के पूर्व अध्यक्ष डा. के कस्तूरीरंगन, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, गृह मंत्री अमित शाह सहित कई सफल लोग गुजरात विश्वविद्यालय के पूर्व छात्र रहे हैं । भाषा दीपक विकसित देश के रूप में उभरेगा । राष्ट्रपति ने कहा कि डा. विक्रम साराभाई, इसरो के पूर्व अध्यक्ष डा. के कस्तूरीरंगन, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, गृह मंत्री अमित शाह सहित कई सफल लोग गुजरात विश्वविद्यालय के पूर्व छात्र रहे हैं ।

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.