Samachar Jagat

जयपुर | उत्तरप्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने देश का विभाजन हुआ तब संतों की ओर से किए गए विरोध में पंचखंड पीठ की बड़ी भूमिका बताते हुए कहा है कि आचार्य धर्मेंद ने विश्व हिदू परिषद के नेतृत्व में राम मंदिर आंदोलन को धार दी और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राम मंदिर के निर्माण के कार्य को आगे बढ़ाया है। श्री योगी आज जयपुर जिले के विराटनगर मेें पावनधाम पंचखंड पीठ में आचार्य धर्मेंद्र के उत्तराधिकारी आचार्य सोमेंद्र की चादरपोशी कार्यक्रम में भाग लेने के अवसर पर पर संतों एवं ग्रामीणों को संबोधित कर रहे थे।

उन्होंने कहा कि जब देश का विभाजन हुआ तो संतों की ओर से किए गए विरोध में इस पीठ की बड़ी भूमिका रही। योगी ने कहा कि संत कर्म करते हैं, फल की चिता नहीं करते और श्री मोदी ने राम मंदिर के निर्माण के कार्य को आगे बढ़ाया।उन्होंने कहा कि समर्थ गुरु रामदास की परंपरा को जिस तरह स्वामी विवेकानंद ने आगे बढ़ाया, उसी तरह आचार्य सोमेंद्र अब आचार्य धर्मेंद्र की परंपरा को आगे बढ़ाएंगे। उन्होंने कहा कि आचार्य स्वामी धर्मेंद्र ने देश की प्राचीन और धार्मिक परंपरा को आगे बढ़ाया। आचार्य धर्मेंद्र ने सदी के सबसे बड़े राम मंदिर आंदोलन में अग्रणी भूमिका निभाई।

उन्होंने पचास वर्ष तक सांस्कृतिक आंदोलन में हिन्दू समाज को नेतृत्व दिया और विश्व हिदू परिषद के नेतृत्व में राम मंदिर आंदोलन को धार दी। योगी आदित्यनाथ लखनऊ से हेलिकॉप्टर से सुबह करीब पौने ग्यारह बजे विराटनगर के पंच खंड हनुमान मंदिर (भीम डूंगरी) के पास हेलिपैड पर उतरे और इसके बाद विराटगर पहुंचे। कार्यक्रम के बाद योगी आदित्यनाथ लखनऊ के लिए रवाना हो गए। इस अवसर पर अलवर के सांसद मंहत बालकनाथ सहित कई संत और अन्य गणमान्य लोग हस्तियां मौजूद थे।

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.