प्रदेश में भाजपा की सरकार 15 साल नहीं होती तो राज्य और विकसित होता

रायपुर/01 नवंबर 2022। छत्तीसगढ़ राज्य के 23वीं वर्षगांठ पर कांग्रेस ने कहा कि छत्तीसगढ़ में 15 सालो तक भाजपा की सरकार नहीं होती राज्य और प्रगति की ओर अग्रसर होता। 4 सालो में राज्य के रोजगार किसानी, व्यापार, उद्योग, शिक्षा में आमूल चूल परिवर्तन हुआ है।

2018 में भाजपा सरकार के समय राज्य की बेरोजगारी दर 22 प्रतिशत आज प्रदेश की बेरोजगारी दर देश में सबसे कम 0.2 प्रतिशत है। जब प्रदेश में भाजपा की सरकार थी तब 2018 में प्रदेश में धान की खेती 22 लाख हेक्टेयर होती थी, आज प्रदेश में 30 लाख हेक्टेयर रकबे पर धान की खेती हो रही है।

रमन राज में 12 से 16 लाख किसान ही धान बेचते थे। छत्तीसगढ़ में कांग्रेस की सरकार बनने के बाद इस वर्ष लगभग 26 लाख किसानों ने धान बेचने के लिये पंजीयन कराया है। 2018 की तुलना में प्रदेश में सिंचाई के रकबे में भी 15 फीसदी की बढ़ोत्तरी हुई है।

प्रदेश कांग्रेस संचार विभाग के अध्यक्ष सुशील आनंद शुक्ला ने कहा कि रमन राज में प्रदेश में 3000 से अधिक सरकारी स्कूल बंद हो गये थे आज इनमें से 2600 से अधिक स्कूलों को फिर से शुरू किया गया है, राज्य में 450 से अधिक अंग्रेजी माध्यम के स्वामी आत्मानंद स्कूल खोले गये है।

प्रदेश में जब भाजपा की सरकार थी तब मात्र 7 वनोपजों की समर्थन मूल्य में खरीदी होती थी, कांग्रेस की भूपेश सरकार बनने के बाद 65 वनोपजों की समर्थन मूल्य में खरीदी हो रही है। भाजपा सरकार के समय राज्य में मात्र धान की समर्थन मूल्य में खरीदी होती थी आज राज्य में धान के अलावा मक्का, गन्ना, मूंग, उड़द, गौण अन्न रागी, कोदो, कुटकी की भी समर्थन मूल्य में खरीदी हो रही है।

भाजपा के राज्य में सरकार नौकरी में भर्तियां बंद हो गयी थी, कांग्रेस की सरकार बनने के बाद सभी विभागों में भर्तियां शुरू हुई। भाजपा के 15 साल में राज्य लोक सेवा आयोग की मात्र 9 परीक्षा हुई थी, कांग्रेस के 4 साल में हर साल पीएससी की नियमित भर्ती परीक्षा हो रही है।

प्रदेश कांग्रेस संचार विभाग के अध्यक्ष सुशील आनंद शुक्ला ने कहा कि भाजपा शासन काल में उद्योग लगाने के लिये एनओसी लेने में उद्योगपतियों को विभागों के चक्कर लगाने पड़ते थे, कांग्रेस की सरकार बनने के बाद एकल खिड़की प्रणाली लागू की गयी। रमन राज में तहसील कार्यालयों में नामांतरण, फौती के प्रकरणों की पेडेंसी में 70 प्रतिशत की कमी आई है।

भाजपा सरकार के समय सिटिजन चार्टर केवल सरकारी दफ्तर के दरवाजे की शोभा बढ़ाते थे आज उन पर कड़ाई से अमल होता है। रमन सरकार के समय 15 साल में मात्र 4 मेडिकल कॉलेज राजनांदगांव, रायगढ़, अंबिकापुर, जगदलपुर खुला, भूपेश सरकार ने 4 साल में 8 मेडिकल कॉलेज खोला कांकेर, महासमुंद, कोरबा खुल गये, जांजगीर, कवर्धा, दंतेवाड़ा, मनेन्द्रगढ़ की घोषणा, चंदूलाल चंद्राकर मेडिकल कॉलेज का शासकीयकरण किया गय। कांग्रेस की सरकार बनने के बाद प्रदेश का चहुंमुखी विकास हो रहा है।

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.