हसदेव कोल आवंटन के मामले में भाजपा अपना रुख स्पष्ट करें

रायपुर/02 नवंबर 2022। प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता धनंजय सिंह ठाकुर ने कहा कि हसदेव मामले में बयानबाजी करने वाले भाजपा नेता डॉ. रमन सिंह, भाजपाध्यक्ष, नेता प्रतिपक्ष, पूर्व नेता प्रतिपक्ष केंद्रीय मंत्री रेणुका सिंह अब भाजपा का क्या रूख स्पष्ट करें? हसदेव में कोल उत्खनन के विरोधी है तो खदान का आवंटन रद्द कराने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के पास कब जा रहे है? कांग्रेस पार्टी का हसदेव मामले में रूख हमेशा से स्पष्ट है। कांग्रेस स्थानीय निवासियों की सहभागिता और बिना सहमति के उत्खनन की पक्षधर कभी नहीं रही है। इसीलिये राजस्थान को आवंटित कोल ब्लाक को अन्यत्र आबंटित करने की मांग छत्तीसगढ़ सरकार ने किया था। विधानसभा में प्रस्ताव भी पारित हुआ था। भारतीय जनता पार्टी इस मामले में शुरू से ही भ्रम फैलाने का काम कर रही थी। राज्य के भाजपा के नेता कोल आवंटन के खिलाफ बयान देते है, केंद्र में इनके नेता कोल आबंटन के पक्ष में निर्णय लेते है।

प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता धनंजय सिंह ठाकुर ने कहा कि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की सरकार ने राजस्थान को आवंटित कोल खदान को रद्द करने के लिए लगातार केंद्र सरकार से पत्राचार कर रही है। प्रदेश की जनता की भावनाओं को केंद्र सरकार के सामने रख रही है। कोल मंत्रालय को पत्र लिखकर आबंटन को रद्द करने की मांग की गयी थी अब पर्यावरण, वन एवं जलवायु परिवर्तन मंत्रालय को पत्र लिखकर राजस्थान विद्युत उत्पादन निगम को आबंटित परसा ओपन कास्ट कोल माइंस वन भूमि से कोयला उत्खनन से गैर वाहिनीकी कार्य हेतु एफसीए 1980 के अंतर्गत व्ययपर्वतन निरस्त करने पत्र लिखा गया है। भाजपा छत्तीसगढ़ में हसदेव के मामले पर राजनीति करती है लेकिन केंद्र सरकार के सामने प्रदेश की जनता की भावनाओं को रखने से पीछे हटती है। भाजपा को हसदेव अरण्य में कोल खनन के मुद्दे पर अपना राय स्पष्ट करना चाहिए और प्रदेश की जनता को बताना चाहिए कि हसदेव में आवंटित कोल खनन को रद्द कराने भाजपा के सांसद और नेता कब प्रधानमंत्री से मिलेंगे या सिर्फ छत्तीसगढ़ में बयानबाजी कर खानापूर्ति करेंगे?

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.