शासन की जनकल्याणकारी योजनाओं का लाभ समाज के अंतिम व्यक्ति तक पहुंचाना मुख्य प्राथमिकता – सुशील सन्नी अग्रवाल

मुंगेली 14 नवम्बर 2022 : छत्तीसगढ़ भवन एवं अन्य सन्निर्माण कर्मकार कल्याण मंडल के अध्यक्ष श्री सुशील सन्नी अग्रवाल ने कहा कि मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल के मंशानुरूप श्रम विभाग द्वारा संचालित शासन की विभिन्न जनकल्याणकारी योजनाओं का लाभ समाज के अंतिम व्यक्ति तक पहुंचाने के लिए लगातार प्रयास किया जा रहा है।

इसी कड़ी में आज जिला मुख्यालय स्थित आदर्श कृषि उपज मंडी परिसर में विशाल श्रमिक सम्मेलन का आयोजन किया गया। उन्होंने श्रमिकों को श्रम विभाग की ओर से संचालित शासन की विभिन्न जनकल्याणकारी योजनाओं की जानकारी दी और उन्हें लाभ उठाने प्रेरित किया।

इस दौरान श्रम विभाग के विभिन्न जनकल्याणकारी योजनाओं मुख्यमंत्री नोनी सशक्तिकरण सहायता योजना के तहत 68 हितग्राहियों को 13 लाख 60 हजार रूपए की राशि का चेक, मिनीमाता महतारी जतन योजना के तहत 19 हितग्राहियों को 03 लाख 80 हजार रूपए का चेक, मुख्यमंत्री नौनिहाल छात्रवृत्ति सहायता योजना के तहत 22 हितग्राहियों को 43 हजार 500 रूपए की राशि का चेक,

मुख्यमंत्री निर्माण श्रमिक मृत्यु एवं दिव्यांग सहायता योजना के तहत 01 हितग्राही को 01 लाख रूपए की राशि का चेक, मुख्यमंत्री निर्माण श्रमिक निःशुल्क कार्ड योजना के तहत 404 हितग्राहियों को 40 हजार 40 रूपए की राशि का चेक, असंगठित कर्मकार मृत्यु एवं दिव्यांग सहायता योजना के तहत 03 हितग्राहियों को 03 लाख रूपए की राशि का चेक,

असंगठित कर्मकारों के बच्चे हेतु 48 हितग्राहियों को 40 हजार 500 रूपए की राशि का चेक और असंगठित कर्मकार प्रसूति सहायता योजना के तहत 120 हितग्राहियों को 24 लाख रूपए की राशि का चेक का वितरण कर लाभांवित किया गया।

इस अवसर पर श्री अग्रवाल ने कहा कि मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल एक छत्तीसगढ़िया मुख्यमंत्री हैं, जो छत्तीसगढ़ के निवासियों का दुख-दर्द करीबी से समझते हैं। उन्होंने कहा कि पहले श्रमिकों को शासन की योजनाओं का पूरा लाभ नहीं मिल पाता था, लेकिन अब शासन की योजनाओं की पूरी राशि डीबीटी के माध्यम से हितग्राहियों के बैंक खाते में सीधे अंतरित की जाती है।

उन्होंने श्रमिकों को मोबाईल एप ‘श्रमेव जयते’ के बारे में जानकारी दी और बताया कि इस ऐप को श्रमिक अपने मोबाइल से गूगल के प्ले-स्टोर से निःशुल्क डाउनलोड कर अपना पंजीयन कर सकते हैं तथा मंडल में संचालित समस्त योजनाओं की जानकारी प्राप्त कर सकते हैं। श्रमिकों को योजना का आवेदन करने के लिए अब किसी भी च्वाइस सेंटर या श्रम कार्यालय का चक्कर नहीं लगाना पड़ेगा। उन्होंने श्रम विभाग के अधिकारियों को जिले के दूरस्थ क्षेत्रों में भी शिविर का आयोजन करने और अधिक से अधिक श्रमिकों का श्रमिक कार्ड बनाकर उन्हें श्रम विभाग की विभिन्न योजनाओं से लाभांवित करने के निर्देश दिए।

छत्तीसगढ़ राज्य पिछड़ा वर्ग आयोग के अध्यक्ष श्री थानेश्वर साहू ने कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा कि श्रमिक सम्मेलन एक बहुत ही अच्छा आयोजन है। इसके माध्यम से श्रमिक के हित में जो योजनाएं संचालित है, उसका जानकारी देना और बेहतर क्रियान्वयन करना है। उन्होंने कहा कि श्रम विभाग की विभिन्न योजनाओं का लाभ बड़ी संख्या में पिछड़ा वर्ग के लोगों को भी मिलता है।

उन्होंने इन योजनाओं के प्रचार-प्रसार पर जोर दिया। जिला पंचायत अध्यक्ष श्रीमती लेखनी सोनू चंद्राकर ने कहा कि आज श्रमिक सम्मेलन का आयोजन किया गया है। यह सराहनीय पहल है। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल के नेतृत्व में समाज के सभी वर्ग के विकास के लिए कार्य किया जा रहा है। चाहे वो गरीब हो, किसान हो या मजदूर हो सभी वर्ग के लोग लाभांवित हो रहे हैं।

कार्यक्रम को नगरपालिका अध्यक्ष श्री हेमेन्द्र गोस्वामी, जिला पंचायत उपाध्यक्ष श्री संजीत बनर्जी, कृषि उपज मंडी बोर्ड के अध्यक्ष श्री आत्मा सिंह क्षत्रिय, छत्तीसगढ़ श्रम कल्याण मंडल के सदस्य श्रीमती अंबालिका साहू, अनुसूचित जाति प्राधिकरण के सदस्य सुश्री रत्नावली कौशल, गणमान्य नागरिक श्री सागर सिंह बैस ने भी संबोधित किया।

इस अवसर पर छत्तीसगढ़ भवन सन्निर्माण कर्मकार मंडल के सदस्य श्री श्याम जायसवाल एवं श्री रविन्द्र राजपुरोहित, मछुआ कल्याण बोर्ड के सदस्य श्री प्रभु मल्लाह, उर्दू अकादमी बोर्ड के सदस्य श्री एजाज खोखर, छत्तीसगढ़ सेन कल्याण बोर्ड के सदस्य श्री धनुष सेन, मुंगेली एसडीएम सुश्री आकांक्षा शिक्षा खलखो, श्रम विभाग के श्रम पदाधिकारी डाॅ. के. के. सिंह सहित संबंधित विभाग के अधिकारी-कर्मचारी, पार्षदगण, गणमान्य नागरिक, और बड़ी संख्या में श्रमिकगण उपस्थित थे।

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.