ओम माथुर ही नहीं उनके पहले आये भाजपा के प्रभारियों ने भी भूपेश बघेल के किसान चेहरा और किसान हितैषी नीतियों के आगे आत्मसमर्पण कर दिया

रायपुर /22 नवंबर 2022/ भाजपा प्रदेश प्रभारी ओम माथुर के बयान पर कड़ी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता धनंजय सिंह ठाकुर ने कहा कि भाजपा प्रदेश प्रभारी ओम माथुर के बयान में अहंकार झलक रहा है प्रदेश की जनता का अपमान झलक रहा है अगर ओम माथुर कहते हैं कि छत्तीसगढ़ उनके लिए चुनौती नहीं है मतलब साफ संकेत भाजपा 2023 में अपनी 14 सीट भी नही बचा पायेगी।

ओम माथुर के पहले जितने भी प्रभारी आए सभी ने मुख्यमंत्री भूपेश बघेल का किसान होना और सरकार के किसान हितैषी जनकल्याणकारी नीतियों के आगे आत्मसमर्पण कर दिया। कई बार भाजपा के प्रदेश प्रभारीयो ने सार्वजनिक तौर पर इस बात को स्वीकार किया प्रदेश के मुख्यमंत्री का किसान होना भाजपा के लिए सबसे बड़ी चुनौती है।

ओम माथुर को पता है कि भाजपा ना तो जनता के बीच में है ना उनके पास कोई नेता है ना उनके पास कोई नीतियां है और 15 साल के रमन सरकार की कालगुजारी कमीशनखोरी भ्रष्टाचार हजारों किसानों की आत्महत्या,युवाओं के रोजगार को बेचना और घोटालाबाजी के महापाप से भाजपा कभी नहीं उबर पाएगी। जनता का विश्वास खो चुकी भाजपा छत्तीसगढ़ में कभी सिर उठाकर राजनीति नहीं कर पाएगी।

प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता धनंजय सिंह ठाकुर ने कहा कि असल मायने में ओम माथुर के लिए सबसे बड़ी चुनौती अगर कोई है तो भाजपा के संगठन के भीतर भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष पूर्व मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह पूर्व मंत्री एवं विधायक बृजमोहन अग्रवाल राज्यसभा सदस्य सरोज पांडे जैसे कई कद्दावर नेता हैं जिसको सीधा करने के फिराक में भाजपा के कई प्रदेश प्रभारी यहां से अलविदा हो चुके हैं।

प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता धनंजय सिंह ठाकुर ने कहा कि ओम माथुर के पहले जितने भी प्रभारी आए सबको नाच नाच आने का काम भाजपा के 15 साल के मठाधीश नेताओं ने किया है ओम माथुर को 2023 आम चुनाव तक खुद को प्रभारी बनाए रखना सबसे बड़ी चुनौती है डॉ रमन सिंह बृजमोहन अग्रवाल सरोज पांडे जैसे और भी कई नेता का ग्रुप है वह ओम माथुर को 2023 के पहले ही छत्तीसगढ़ से रवाना कर देंगे।

ओम माथुर के प्रभारी बनने के बाद प्रदेश में हो रहे भानुप्रतापपुर के उपचुनाव में एक बलात्कारी को टिकट दिया गया है इससे ही समझ में आ जाता कि ओम माथुर के पास कितनी बड़ी सोच है या निर्णय लेने की क्षमता है कि नहीं। प्रदेश की जनता 2023 के चुनाव में मुख्यमंत्री भूपेश बघेल सरकार की जनकल्याणकारी कार्यों कांग्रेस पार्टी के रीति नीति सिद्धांतों और छत्तीसगढ़ के आने वाले भविष्य को उज्जवल बनाने के लिए कांग्रेस के निशान पर मुहर लगाएगी

वर्तमान में कांग्रेस पार्टी 71 सीट पर है और हमें पूरा विश्वास है 2023 के चुनाव में कांग्रेस लगभग 75 सीट के आंकड़े को पूरा करेंगी। कांग्रेस पार्टी हमेशा लोकतंत्र की मर्यादाओं का सम्मान करती हैं 2023 में भाजपा को एक मजबूत विपक्ष की भूमिका में देखना चाहती है।

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.