जांजगीर में धान खरीदी में पंजीयन में गड़बड़ी, दो कर्मचारी किए गए सस्पेंड





जांजगीर। जिले में धान खरीदी की प्रक्रिया में पंजीयन को लेकर गड़बड़ी सामने आई है। जानकारी के अनुसार सहकारी समिति के कर्मचारियों ने धान बेचने वालों की सूची में ऐसे किसानों का नाम है, जिनके पास जमीन ही नहीं है। शिकायत मिलने पर जांच शुरू हुई, जिसमें गड़बड़ी मिली। इसके बाद दो कर्मचारियों को निलंबित कर दिया गया है। वहीं दो लोगों पर एफआईआर कराया गया है।

जानकारी के अनुसार जांजगीर-चांपा जिले के धान खरीदी केन्द्र कोरबी में फर्जी पंजीयन की शिकायत मिली थी। इसके बाद कलेक्टर तारण प्रकाश सिन्हा ने अनुविभागीय अधिकारी कमलेश नंदिनी साहू, उप पंजीयक उमेश गुप्ता, जिला सहकारी बैंक के नोडल अधिकारी अश्वनी पांडेय, भू-अभिलेख शाखा के सहायक अधीक्षक विनय पटेल ने शिकायत की जांच सौंपी। जांच में शिकायत सही पाई गई।

इस जांच में दोषी पाए गए ग्रामीण कृषि विस्तार अधिकारी एसके जोगी और धान खरीदी केन्द्र के प्रभारी सह ऑपरेटर विकास सिंह को निलंबित कर एफआईआर दर्ज कराया है। फर्जी पंजीयन कराने वाले पूजा अग्रवाल और जितेन्द्र अग्रवाल के खिलाफ भी एफआईआर दर्ज कराया है। धान खरीदी में किसी भी तरह की अफरा-तफरी की रोकथाम के लिए लगातार निगरानी हो रही है।








By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.