Samachar Jagat

नई दिल्ली : प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने बृहस्पतिवार को लचित दिवस के अवसर पर पूर्ववतीã अहोम साम्राज्य के जनरल लचित बरफुकान को श्रद्धांजलि अर्पित की और कहा कि उन्होंने लोगों की भलाई को हर चीज से ऊपर रखा। प्रधानमंत्री ने एक ट्वीट में कहा, ”लचित दिवस की शुभकामनाएं। यह लचित दिवस विशेष है क्योंकि हम महान लचित बोरफुकान की 400 वीं जयंती मना रहे हैं।’’

उन्होंने कहा, ”वह अद्बितीय साहस के प्रतीक थे। उन्होंने लोगों की भलाई को हर चीज से ऊपर रखा। साथ ही वह एक न्यायप्रिय और दूरदर्शी नेता भी थे।’’ लचित बरफुकान असम के पूर्ववतीã अहोम साम्राज्य में एक सेनापति थे। सरायघाट के 1671 के युद्ध में उनके नेतृत्व के लिए उन्हें पहचाना जाता है, जिसमें मुगल सेना का असम पर कब्जा करने का प्रयास विफल कर दिया गया था।

इस विजय की याद में असम में 24 नवंबर को लचित दिवस मनाया जाता है। सरायघाट का युद्ध गुवाहाटी में ब्रह्मपुत्र नदी के तटों पर लड़ा गया था। 

 

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.