मनी लॉन्ड्रिंग मामले में ईडी की कोर्ट में चार्जशीट पेश, 500 करोड़ रुपए से अधिक की गड़बड़ी के दस्तावेज जमा





मनी लॉन्ड्रिंग मामले में ईडी की कोर्ट में चार्जशीट पेश, 500 करोड़ रुपए से अधिक की गड़बड़ी के दस्तावेज जमा

रायपुर। ईडी ने आज रायपुर की अदालत में 8 हजार पेज की चार्जशीट पेश कर दी गई। ये चालान आईएएस समीर विश्नोई, कारोबारी सूर्यकांत तिवारी, लक्ष्मीकांत तिवारी और सुनील अग्रवाल से जुड़ा है। इन चारों ही आरोपियों ने कैसे करोड़ों रुपयों की हेर-फेर की। कैसे पद पर रहकर आईएएस ने अपनी ताकतों का इस्तेमाल किया, ये पूरी जानकारी अदालत को दी गई है।

मनी लॉन्ड्रिंग के मामले में ईडी ने आईएएस समीर विश्नोई, कारोबारी सूर्यकांत तिवारी, लक्ष्मीकांत तिवारी और सुनील अग्रवाल के खिलाफ पेश चार्जशीट में 500 करोड रुपए की अवैध वसूली के दस्तावेज सौंपे हैं। ईडी ने कोर्ट को बताया कि चारों आरोपियों ने अपने पद और पहुंच का फायदा उठाकर करोड़ों रुपए की हेराफेरी की है। प्रवर्तन निदेशालय के अफसर गाड़ियों में चार्जशीट लेकर चुपचाप रायपुर की अदालत पहुंचे। जज अजय सिंह की कोर्ट में अफसर पहुुंच गए और जानकारी दी। हालांकि चर्चा शनिवार को चार्जशीट पेश करने की थी, मगर एक दिन पहले ही इसे पेश किया गया।

अदालत में एक आवेदन की चर्चा है। शुक्रवार को म्क् के अफसरों के खिलाफ एक कारोबारी ने ये शिकायत का आवेदन दिया है। चर्चा है कि म्क् जांच में फंसे आरोपियों से इस आवेदक का संबंध रहा है। आवेदक ने कोर्ट में दिए आवेदन में कहा है कि बेवजह मुझे म्क् के अफसर परेशान कर रहे हैं, पूछताछ के नाम पर मुझे मुर्गा बनाया जाता है, धमकाया जाता है। इससे पहले इस तरह के तथ्य उजागर हो चुके हैं।

कल कोर्ट में सब होंगे पेश

पिछले मंगलवार को ईडी ने मनी लॉन्ड्रिंग केस के सभी आरोपियों को कोर्ट में पेश किया। कई घंटे की सुनवाई के बाद भी उन्हें कोई राहत नहीं मिली है। कारोबारी सूर्यकांत तिवारी, प्।ै समीर विश्नोई, लक्ष्मीकांत तिवारी और सुनील अग्रवाल को कोर्ट ने 10 दिसंबर तक के लिए जेल भेज दिया है। वहीं उप सचिव सौम्या चौरसिया को 10 दिसंबर तक म्क् की हिरासत में भेज दिया है।शनिवार को ये सभी फिर से कोर्ट में पेश किए जाएंगे।








By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.