किसने क्या मदद की?

वीडियो के वायरल होने के बाद बहुत से लोगों ने बच्चे की मदद की है। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने इस बच्चे और उसके भाई की पांच-पांच लाख रुपये की मदद का वादा किया है। कांग्रेस नेता राहुल गांधी और दिग्विजय सिंह सहित कई नेताओं ने मदद करने की बात कही है। भाजपा विधायक रमेश मेंदोला ने कहा है कि बच्चे को प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत घर दिया जाएगा। साथ ही उन्होंने चार जोड़ी कपड़े देने की बात कही है।

साइकिल भी दी गई

साइकिल भी दी गई

पीड़ित बच्चे का नाम पारस रायकवार है। उसकी मां की दस साल पहले मौत हो चुकी है और तभी से उसके नाना ही उसकी और उसके भाई की देखभाल कर रहे हैं। पारस का कहना है कि उसे दिग्विजय सिंह ने साइकिल दी है। 4 जोड़ी कपड़े और स्कूल में पढ़ाने का वादा भी किया है। पारस के नाना का कहना है कि दिग्विजय सिंह ने दस हजार रुपये की मदद पहुंचाई है और दोनों भाइयों की पढ़ाई का खर्चा उठाने का वादा किया है।

क्या है मामला?

क्या है मामला?

वायरल हो रहे इस वीडियो के अनुसार, इस बच्चे को कर्मियों ने घटना वाली सुबह कथित तौर पर चेतावनी दी थी कि या तो अपना ठेला यहां से हटा ले या फिर 100 रुपये की रिश्वत दे। लड़के का कहना है कि जब उसने ऐसा करने से इनकार किया तो उसका ठेला पलट दिया गया, जिसके कारण उसके सारे अंडे टूट गए। दरअसल इंदौर कोरोना वायरस से काफी प्रभावित है। जिसके चलते शहर के व्यवसायिक प्रतिष्ठानों के लिए ‘लेफ्ट राइट’ व्यवस्था शुरू की गई है। जिसके तहत एक दिन सड़क के दाईं ओर की दुकान खुलेंगी और दूसरे दिन बाईं ओर की दुकानें खुलेंगी। जिसके चलते फेरी वालों पर कार्रवाई हो रही है। इस व्यवस्था का बहुत से नेता विरोध भी कर रहे हैं।

[ad_2]

Source link

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.