Agricultural law: Farmers’ movement intensified| national News in Hindi

इंटरनेट डेस्क। राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली की सीमाओं पर तीन नए केन्द्रीय कृषि कानूनों के खिलाफ किसानों द्वारा किया जा रहा आंदोलन समाप्त होने का नाम नहीं ले रहा है, बल्कि यह तेज होता जा रहा है। इस आंदोलन को शुरू हुए एक माह हो गया है। किसानों द्वारा अब कई टोल प्लाजाओं पर कब्जा करने और राजमार्ग को भी जाम करने की खबरें आ रही है। 

किसान यूनियनों द्वारा बातचीत के लिए केन्द्र सरकार की नई पेशकश पर विचार के लिए आज एक बार फिर से बैठक होगी। इस बैठक में ठहरी हुई बातचीत को फिर से शुरू करने के लिए केंद्र के न्यौते पर कोई औपचारिक फैसला किया जा सकता है।  

केंद्रीय कृषि और किसान कल्याण मंत्रालय के एक अधिकारी ने बताया कि केन्द्र सरकार को इस बात की उम्मीद है कि अगले दौर की बैठक आगामी दो-तीन दिनों में हो सकती है। सरकार के साथ किसान संगठनों की कई दौर की बात हो चुकी है, लेकिन अभी तक किसी भी प्रकार का नतीजा नहीं निकला है। किसान केन्द्र सरकार से एमएसपी पर गारंटी की मांग पर अड़े हुए हैं।    

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *