Blackout, Called upon, Powergrid on high alert,

‘ब्लैकआउट’ के आह्वान को लेकर पावरग्रिड हाईअलर्ट पर

नई दिल्ली. प्रधानमंत्री मोदी द्वारा इस रविवार की रात 9 बजे अपने घरों की बिजली बंद करने के आान के मद्देनजर देशभर के लोड डिस्पैच सेंटरों को उच्चस्तरीय तैयारी करने के निर्देश दिए गए हैं, ताकि अचानक बिजली खपत में गिरावट आने पर पावरग्रिड को किसी भी तरह के खतरे का सामना न करना पड़े। स्वतंत्र बिजली उत्पादकों, केंद्रीय और राज्य बिजली ट्रांसमिशन और डिस्ट्रीब्यूशन यूटीलिटीज को लिखे गए पत्रों में ब्लैकआउट के समय से पहले और बाद में ग्रिड के सुचारु और सुरक्षित संचालन सुनिश्चित करने के लिए सतर्कता के उच्च स्तर का ध्यान रखने को कहा गया है। वहीं इन यूटीलिटीज को रिले, कैपेसिटर और रिएक्टरों को सेवा के लिए तैयार रखने के लिए कहा गया है, ताकि अगर कोई घटना होती भी है तो उसे जल्द से जल्द संभाला जा सके।

यूपी स्टेट लोड डिस्पैच सेंटर ने ग्रिड का सुचारु संचालन सुनिश्चित करने के लिए आगे तैयारी करने के लिए डिस्ट्रीब्यूशन और ट्रांसमिशन यूटीलिटीज को पत्र लिखा है, जिसका अंश है, “..अनुमान लगाया गया है कि बिजली को बंद करने से उत्तर प्रदेश में बहुत कम समय में 3000 मेगावाट की लोड रिडक्शन की घटना हो सकती है। ऊपर बताए गए लोड में कमी आने से यूपी पावरग्रिड में हाई वोल्टेज की वृद्धि हो सकती है।”

गौरतलब है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार की सुबह अपील की थी कि रविवार की रात 9 बजे से 9 मिनट तक अपने घरों की लाइट बंद रखें। इस दौरान दीया, मोमबत्ती या टॉर्च जलाएं।

इस आह्वान ने देशभर के बिजली क्षेत्र के प्रबंधकों का जमावड़ा लगा दिया, ताकि 5 अप्रैल को ब्लैकआउट की अवधि के दौरान देशभर में संभावित ग्रिड कोलैप्स और ब्लैकआउट से बचाने के लिए रणनीति तैयार की जा सके। इसकी सूचना सबसे पहले आईएएनएस ने शुक्रवार को दी थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *