Chhattisgarh, Hat markets, health Department, Ten million three thousand 678 people, Treatment,

हाट-बाजारों में 10 लाख से अधिक लोगों का नि:शुल्क इलाज

रायपुर. छत्तीसगढ़ के वनांचलों और ग्रामीण इलाकों के हाट-बाजारों में स्वास्थ्य विभाग की मेडिकल टीमों द्वारा दस लाख तीन हजार 678 लोगों को इलाज मुहैया कराया गया है। हाट-बाजारों की क्लिनिक में पहुंचे नौ लाख पांच हजार 473 मरीजों को जांच व उपचार के बाद निःशुल्क दवाईयां दी गई हैं।

मुख्यमंत्री हाट-बाजार क्लिनिक योजना के अंतर्गत प्रदेश के एक हजार 851 हाट-बाजारों में क्लिनिक लगाए जा रहे हैं। स्वास्थ्य विभाग द्वारा योजना शुरू होने के बाद से कुल 17 हजार 150 हाट-बाजार क्लिनिक आयोजित किए गए हैं।

हाट-बाजार क्लिनिक में जरूरतमंदों को निःशुल्क उपचार, चिकित्सीय परामर्श और दवाईयां उपलब्ध कराने के साथ ही मोबाइल मेडिकल यूनिट द्वारा मलेरिया, एचआईव्ही, मधुमेह, एनिमिया, टीबी, कुष्ठ रोग, उच्च रक्तचाप और नेत्र विकारों की जांच भी की जा रही है। इन क्लिनिकों में शिशुओं और गर्भवती महिलाओं का टीकाकरण भी किया जा रहा है।

अप्रैल-2019 से वनांचलों में और 2 अक्टूबर 2019 से ग्रामीण क्षेत्रों में शुरू मुख्यमंत्री हाट-बाजार क्लिनिक योजना के अंतर्गत अब तक 90 हजार 464 लोगों की मलेरिया जांच की गई है। पॉजिटिव पाए गए तीन हजार 821 मरीजों का उपचार भी इन क्लिनिकों में किया गया है।

योजना के अंतर्गत चार लाख 25 हजार 011 लोगों के उच्च रक्तचाप, दो लाख 99 हजार 011 लोगों की मधुमेह, 84 हजार 201 लोगों की रक्त-अल्पता (एनिमिया) और 23 हजार 584 लोगों के नेत्र विकारों की जांच की गई है। हाट-बाजार क्लिनिकों में तीन हजार 619 लोगों की टीबी (क्षय रोग), दो हजार 869 लोगों की कुष्ठ और तीन हजार 016 लोगों की एचआईव्ही जांच भी की गई है।

इस दौरान 21 हजार 176 गर्भवती महिलाओं की जांच और तीन हजार 720 शिशुओं को टीके लगाए गए हैं। हाट-बाजार क्लिनिकों में 16 हजार 357 डायरिया पीड़ितों का भी उपचार किया गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *