Chhattisgarh, Peer saving, Four children 26 January, Gallantry award,

इन चार बच्चों को मिलेगा वीरता पुरस्कार

रायपुर. छत्तीसगढ़ में अपने साहस से साथियों की जान बचाने वाले चार बच्चों को 26 जनवरी को वीरता पुरस्कार दिया जाएगा । राजधानी रायपुर में 12 साल के राहुल पटेल ने 2 साल के मासूम को डूबने से बचाया था। बच्चा खेलते हुए तालाब के अंदर चला गया था, जिसे डूबता देखकर राहुल ने तालाब में छलांग लगा दी और बच्चे को बचा लिया था।

धमतरी जिले के संबलपुर गांव में 7 साल की अंशिका साहू ने अपनी बहन की जान बचाई थी. उसकी बहन तार से चिपकर झटके खा रही थी. जिसे अंशिका ने प्लास्टिक की चप्पल मारकर तार से अलग कर लिया।

अनन्या चौहान ने भी ऐसा ही एक वीरता भरा काम किया था. वो अपनी चचेरी बहन अनिकृति और रिया साहू के साथ सुपेला भिलाई में होली मिलन समारोह  लौट रही थी. तभी रास्ते में मवेशी के आने से उनकी गाड़ी अनियंत्रित हो गई और वे तीनों गिर गईं थीं. सभी को चोटें आईं थीं. उसकी बहन अनिकृति और रिया बेहोश होकर गिर गईं, जिन्हें चोट लगे होने के बावजूद अनन्या ने वक्त पर अस्पताल पहुंचाया, और उनकी जान बचाई ।

प्रमोद ने डूबती किशोरी को तालाब से निकाला

रायगढ़ 15 साल प्रमोद बारीक ने भी नाबालिग भारती को डूबता देख, तालाब में छलांग लगा दी. प्रमोद तैरता हुआ भारती को तालाब से बाहर खींच लाया और उसकी जान बचा ली ।

अब इन चारों बच्चों को गणतंत्र दिवस के दिन वीरता पुरस्कार से सम्मानित किया जाएगा राज्यपाल अनुसुइया उइके इन बहादुर बच्चों को सम्मानित करेंगी।पुरस्कार में 15 हजार रुपए नगद, प्रशस्ति पत्र और मैडल दिया जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *