Chhattisgarh, Waqf board, Observer team, Crores of crores exposed,

रमज़ान को लेकर वक़्फ़ बोर्ड ने जारी की एडवाइजरी

रायपुर. मुस्लिम समाज का पवित्र महीना रमज़ान आने को है, और उधर कोरोना वायरस के चलते लॉक डाउन लगातार जारी है। इसे देखते हुए वक़्फ़ बोर्ड ने रमजान के महिने के लिए अलग से एडवाइजरी जारी की है। इसमें सभी हिदायतों का अच्छी तरह पालन करते हुए कोरोना को फैलने से रोकने में सहयोग की अपील की गई है।

कोरोना के वायरस ने भारत ही नहीं, बल्कि पूरे विश्व में जनजीवन को अस्त व्यस्त कर दिया है। ये पहली बार हुआ है जब सारे कामकाज को छोड़ कर लोग अपने घरों में कैद हो गए हैं। लोगों ने मंदिर मस्जिद जाना भी छोड़ दिया है। भारत में लॉक डाउन का दूसरा चरण जारी है और इस बीच 24 या 25 अप्रैल से रमज़ान का पवित्र महीना प्रारंभ हो जायेगा।

इसे देखते हुए छत्तीसगढ़ राज्य वक़्फ़ बोर्ड ने प्रदेश भर में समाज के प्रमुखों को पत्र जारी कर लॉक डाउन का सख्ती से पालन करवाने को कहा है। इसी मसले को लेकर वक़्फ़ बोर्ड अध्यक्ष सलाम रिजवी सहित देश भर के वक़्फ़ बोर्ड अध्यक्षो की केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से चर्चा भी हुई है।

गौरतलब है कि इससे पूर्व भी लॉक डाउन के दौरान वक़्फ़ बोर्ड ने अलग अलग 6 एडवाइजरी जारी की, जिसका पालन करते हुए मस्जिदों में लोगों के नमाज पढ़ने पर रोक लगाई गई। शबे बारात के मौके पर लोगों ने कब्रिस्तान, मस्जिद और दरगाहों पर जाने की बजाय घर पर ही इबादत की।

सलाम रिजवी ने इस पर खुशी जताते हुए कहा कि ऐसा करने से कोरोना की बीमारी को फैलने से रोकने में मदद मिली है। वक़्फ़ बोर्ड द्वारा जारी एडवाइजरी में प्रमुख तौर पर  रमज़ान के महीने में मस्जिदों में पढ़ी जाने वाली तरावीह की नमाज को रोकने के अलावा घर पर ही इबादत करने और भीड़ से बचने की सलाह दी गई है। साथ ही अजान के दौरान ध्वनि संबंधी नियम कायदे का भी अच्छी तरह से पालन करने को कहा गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *