Chhattisgarh, Urban body elections, Congress, Manifesto issue,

निकाय चुनाव के लिए कांग्रेस ने जारी किया घोषणा पत्र

परिवार भक्ति का दस्तावेज है कांग्रेस का घोषणा पत्र – सुंदरानी

रायपुर. छत्तीसगढ़ में भूपेश बघेल सरकार के एक साल पूरा होने के अवसर पर आज रायपुर के कांग्रेस कार्यालय में भव्य आयोजन किया गया। इसके बाद मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने पीसीसी कार्यालय में नगरीय निकाय चुनाव के लिए पार्टी का घोषणा पत्र जारी किया।

घोषणा पत्र समिति के संयोजक शिवकुमार डहरिया ने पार्टी का घोषणा पत्र तैयार किया। घोषणा पत्र के अनुसार इंदिरा गांधी हरित अभियान के तहत पर्यावरण का विकास किया जाएगा। धार्मिक कार्यक्रमों के लिए विसर्जन कुंड का निर्माण किया जाएगा।

महात्मा गांधी स्टोरी सम्मान पुरस्कार दिए जाएंगे। पौनी पसारी योजना में महिलाओं को प्राथमिकता दी जाएगी। घोषणा पत्र इसी तरह नगर विकास के लिए कई बिन्दु शामिल किए गए हैं।

घोषणापत्र को लेकर भाजपा का हमला

भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता एवं पूर्व विधायक श्रीचंद सुन्दरानी ने नगरीय निकाय के लिए जारी कांग्रेस के शहरी जनघोषणा पत्र को महज ‘परिवार-भक्ति’ का दस्तावेज बताया है। श्री सुन्दरानी ने कहा कि ‘खानदान-भक्त’ प्रदेश के कांग्रेस नेताओं की विचारहीनता इस घोषणा पत्र में साफ नजर आ रही है।

भाजपा प्रदेश प्रवक्ता ने कहा कि छत्तीसगढ़ और छत्तीसगढि़या का सालभर राग अलापने वाले प्रदेश के मुख्यमंत्री समेत तमाम कांग्रेस नेता परिवार-भक्ति के मोहजाल में फंसे हुए हैं। उनके इस घोषणा पत्र में जितनी योजनाओं के प्रस्ताव की चर्चा हुई है, उनमें छत्तीसगढ़ के किसी भी महापुरुष के नाम पर कोई योजना नहीं है। इससे साफ होता है कि छत्तीसगढ़-छत्तीसगढिय़ा का राग आलापकर कांग्रेस नेता और सत्ताधीश छत्तीसगढ़ का भावनात्मक शोषण कर यहां के लोगों का सिर्फ राजनीतिक इस्तेमाल ही करते हैं और अवसर मिलते ही ‘खानदान-वंदना’  करने में मशगूल हो जाते है। लेकिन प्रदेश का मतदाता अब समझदार हो गया है और वह कांग्रेस की इस झांसेबाजी का अब शिकार नहीं होगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *