Chhattisgarh, Waqf board, Observer team, Crores of crores exposed,

वक्फ बोर्ड की ऑब्जर्वर टीम ने किया करोड़ों की गड़बड़ी का खुलासा

रायपुर. छ.ग.राज्य वक्फ बोर्ड के नवनियुक्त अध्यक्ष सलाम रिजवी के नेतृत्व में राज्य भर की हजारों करोड़ की वक्फ सम्पत्तियों की सुरक्षा, व्यवस्था को सुदृढ किया जा रहा है साथ ही वक्फ की सम्पत्तियों की गड़बड़ी करने वालों के खिलाफ सख्ती भी बरती जा रही है। ऐसे ही एक मामले में अंजुमन इस्लामिया कमेटी जगदलपुर के पूर्व पदाधिकारियों के खिलाफ 3 करोड़ 58 लाख 56 हजार रूपयों की वित्तीय अनियमितता को लेकर छ.ग.राज्य वक्फ बोर्ड द्वारा एफ.आई.आर. दर्ज कराया गया है। उक्त वित्तीय अनियमितता वर्ष 2011 से वर्ष 2019 के बीच की गई है।

छ.ग.राज्य वक्फ बोर्ड के अध्यक्ष सलाम रिजवी ने पत्रकारवार्ता में अब तक के कार्यकाल की जानकारी देते हुए बताया कि  मो.अकबर मंत्री छ.ग. शासन एवं विभागीय मंत्री  डाॅ.प्रेमसाय सिंह टेकम के मार्गदर्शन में कार्यभार सम्भालने के बाद छत्तीसगढ़ प्रदेश के समस्त जिलों में वक्फ की सम्पत्तियों की सुरक्षा, व्यवस्था, विकास एवं मुतवल्ली से संबंधित विवादों के निराकरण के लिए नियुक्त आॅब्जर्वर टीम के द्वारा किये जा रहे सराहनीय कार्यों से अच्छे परिणाम भी सामने आ रहे हैं। जिन व्यक्तियों द्वारा वक्फ की सम्पत्तियों पर अवैध रूप से कब्जा किया गया है उन पर भी छ.ग.राज्य वक्फ बोर्ड द्वारा सख्त कार्यवाही की जा रही है। वक्फ सम्पत्तियों के संबंध में की गई समस्त अनियमितताओं की भी सूक्ष्मता से जांच की जायेगी।

ऑब्जर्वर टीमों के गठन से हुआ लाभः-

वक्फ बोर्ड के अध्यक्ष ने राज्य भर में वक्फ की सम्पत्तियों के साथ ही वक्फ संस्थाओं के पदाधिकारीयों के बीच व्याप्त विवादों के निपटारे के लिए एक नई पहल की है। उन्होंने रिटायर्ड जिला न्यायाधीश, शासकीय अधिकारी, अधिवक्तागण, समाज सेवा में जुड़े युवाओं तथा वरिष्ठ नागरिकों एवं आॅडिटरों की अलग-अलग टीमों का गठन किया। इस दौरान जहां भी विवादास्पद मामले सामने आए वहां आॅब्जर्वर टीम का गठन कर विवादों के निपटारे का प्रयास किया जा रहा है जिसमें छ.ग.राज्य वक्फ बोर्ड को कामयाबी मिल रही है। 

करोड़ों की गड़बड़ी का खुलासा

1.प्रदेश भर में वक्फ की सम्पत्तियों की जो बंदरबांट और वित्तीय अनियमितताएं की गई है उसका खुलासा अब होने लगा है। वक्फ बोर्ड के अध्यक्ष  सलाम रिजवी को जगदलपुर की वक्फ सम्पत्ति (अंजुमन इस्लामिया कमेटी जगदलपुर) से जुड़ी वित्तीय अनियमितता की जानकारी होने पर तत्काल संज्ञान में लेकर  रिजवी ने एक पर्यवेक्षक दल का गठन करके जांच के आदेश दिये। जांच एवं दस्जावेजों के परीक्षण के बाद अंजुमन इस्लामिया कमेटी जगदलपुर के पांच सदस्यों द्वारा कूटरचना कर करोड़ों रूपयों की राशि का गबन किये जाने का मामला उजागर हुआ है। इसके बाद छ.ग.राज्य वक्फ बोर्ड द्वारा अंजुमन इस्लामिया कमेटी जगदलपुर के पूर्व सदर सलीम रजा, नायब सदर इसराईल हक, सेक्रेटरी अताउर्रहमान खान, नायब सेक्रेटरी मोहम्मद अजीज और खजांची मोहम्मद इदरीस व कमेटी के अन्य सदस्यों पर आर्थिक अनियमितता एवं छल-कपट, कूटरचना कर 3 करोड़ 58 लाख 56 हजार रूपयों की वित्तीय अनियमितता के संबंध में सिटी कोतवाली जगदलपुर में एफ.आई.आर. दर्ज कराई गई है। छ.ग.राज्य वक्फ बोर्ड द्वारा वक्फ की सम्पत्तियों की हेरा-फेरी करने वालों के खिलाफ पहली एफ.आई.आर. दर्ज होने से ऐसे लोगोें के बीच अफरा-तफरी का महौल है।

2.इसी तरह सारंगढ़ की वक्फ सम्पत्ति ’मुसाफिरखाना’ को अवैध रूप से बेच दिया गया है। इस मुसाफिरखाने का वर्तमान मूल्य लगभग 5 करोड़ रू. है। वक्फ बोर्ड के अध्यक्ष सलाम रिजवी ने इस मामले में रायगढ़ जिला प्रशासन और जिला वक्फ समिति से निष्पक्ष जांच कर सम्बंधितों पर एफ.आई.आर. दर्ज कराने के आदेश दिये है।

3.बिलासपुर जिले में भी वक्फ अलल औलाद ग्राम मचखण्डा में वक्फ की सौ एकड़ से भी ज्यादा जमीन मालगुजार स्व.जैनुद्दीन के वंशजों द्वारा बेच दी गई है। वहीं खाली पड़ी जमीनों पर लोगों ने बेजा कब्जा भी कर रखा है। वक्फ बोर्ड ने फर्जी तरीके से की गई जमीनों की रजिस्ट्री को निरस्त करने और वक्फ की जमीनों पर अवैध रूप से किये गये कब्जों को हटाने के लिए बिलासपुर जिला प्रशासन को पत्र लिखा है।

छ.ग.राज्य में वक्फ से जुड़ी कमेटियों और किरायेदारों के विवादों का निपटाराः- 

प्रदेश भर में लगभग 5000 करोड़ों की वक्फ सम्पत्तियां है जिनकी देखरेख का जिम्मा वक्फ कमेटीयों पर है मगर पूर्व के पदाधिकारियों की मनमानी और झगड़ों के चलते ही अनेक स्थानों पर वक्फ की दुकानों का किराया नहीं आ रहा था वहीं दुकानों के किराये भी बहुत कम थे। वक्फ बोर्ड अध्यक्ष सलाम रिजवी की पहल पर गठित आॅब्जर्वर टीमों ने संबंधित कमेटियों और दुकानदारों की बैठक करवाई और विवादों का निपटारा किया जा रहा है। वर्तमान में राजधानी रायपुर की हजरत फातेहशाह मजार व मस्जिद ट्रस्ट कमेटी की सवा सौ दुकानों के किराये को लेकर हो रहे झगड़ों को निबटाने की पहल शुरू की गई और इसके अच्छे परिणाम भी सामने आ रहे है। यहां के अनेक दुकानदारों ने नवीन किराया अनुबंध भी करा लिया है। इसी तरह सुन्नी हुसैनी मस्जिद तालापारा बिलासपुर, जूना मस्जिद बिलासपुर, सुन्नी जामा मस्जिद बलौदाबाजार समेत अनेक जिलों में स्थित वक्फ संस्थाओं के विवादों का निपटारा निरंतर किया जा रहा है।

वक्फ संस्थाओं में प्रशासकों की नियुक्तिः-

वक्फ संस्थाओं में मुतवल्ली से संबंधित विवाद, झगड़ों और गड़बड़ियों को देखते हुए कुछ स्थानों पर छ.ग.राज्य वक्फ बोर्ड द्वारा प्रशासकों की नियुक्ति भी की गई है। जगदलपुर अंजुमन इस्लामिया कमेटी में करोड़ों की गड़बड़ी को देखते हुए कलेक्टर जिला बस्तर के आदेश से प्रशासक नियुक्त किया गया है। इसके अधीन एक तदर्थ कमेटी भी गठित की गई है। इसी प्रकार बालोद में भी प्रशासक की नियुक्ति की गई है। उधर वक्फ बोर्ड द्वारा प्रदेश के विभिन्न जिलों में स्थित वक्फ संस्थाओं के आॅडिट का कार्य भी तेजी से किया जा रहा है। इस दौरान अनियमितता पाये जाने पर जांच की कार्यवाही भी की जा रही है।

अपनी जायदाद वक़्फ़ करने वाले वाके़फीन के इसाले सवाब के लिए कुरआनख़्वानी व दरूदख़्वानी का आयोजनः-

अपनी जायदात वक़्फ़ करने वाले वाकेफीन के इसाले सवाब के लिए छ.ग.राज्य वक्फ बोर्ड रायपुर द्वारा दिनांक 23.02.2020 को कुरआनख़्वानी व दरूदख़्वानी का अयोजन किया गया जिसमें शहर के समस्त मदरसों के तलबा (बच्चे), विभिन्न मस्जिदों के इमाम, शहर व समाज के विभिन्न संस्थाओं के पदाधिकारी व गणमानन्य बड़ी संख्या में उपस्थित हुए। छ.ग.राज्य वक्फ बोर्ड द्वारा प्रदेश में पहली बार ऐसा कार्यक्रम आयोजित किया गया।

हज़रत ख़्वाजा गरीब नवाज के उर्स के अवसर पर छ.ग.राज्य वक्फ बोर्ड द्वारा चादर भेजी गईः-

सूफी संत हजरत ख्वाजा गरीब नवाज र.अ. अजमेर शरीफ के 808वें उर्स के मौके पर छ.ग.राज्य वक्फ बोर्ड द्वारा चादर भेजी गई और प्रदेश की तरक्की, खुशहाली, आपसी भाईचारा, अमन के लिए दुआ की गई।

प्रेसवार्ता के अवसर पर छ.ग.राज्य वक्फ बोर्ड के अध्यक्ष  सलाम रिजवी ने छ.ग.राज्य वक्फ बोर्ड के माननीय सदस्य  फैसल रिजवी (अधिवक्ता),  युनुस अली (आई.एफ.एस.),  काजी मुफ्ती शहाबुद्दीन,  मीर कादिर अली व अन्य का छ.ग. राज्य वक्फ बोर्ड के समस्त कार्यो में सहयोग के लिए धन्यवाद दिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *