CIMS, Chhattisgarh Institute of Medical Sciences, Bilaspur, Arpa River, Denial of human blood shed,

सिम्स द्वारा अरपा नदी में नहीं बहाया जाता है खून – अधीक्षक

सोशल मीडिया में वायरल वीडियो निराधार और गलत
सिम्स अधीक्षक ने पड़ताल कर स्वास्थ्य विभाग को बताई वस्तुस्थिति

रायपुर. सिम्स (CIMS – Chhattisgarh Institute of Medical Sciences) बिलासपुर ने अरपा नदी में मानव-रक्त बहाए जाने का खंडन किया है। सिम्स प्रबंधन ने कहा है कि नदी में खून बहाए जाने के संबंध में पिछले तीन-चार दिनों से वायरल वीडियो निराधार और गलत है। सिम्स के अधीक्षक ने 13 फरवरी को वीडियो में बताए गए स्थल का निरीक्षण कर और इस संबंध में पड़ताल कर स्वास्थ्य विभाग को वस्तुस्थिति से अवगत कराया है।

संयुक्त संचालक एवं अधीक्षक, सिम्स ने पत्र के माध्यम से स्वास्थ्य विभाग के बिलासपुर संभाग के संयुक्त संचालक को जानकारी दी है कि स्थल निरीक्षण के दौरान नदी में किसी भी प्रकार के रक्त का सैंपल और लाल रंग का पानी नहीं मिला है। वीडियो में बताए गए अरपा नदी में मिलने वाले नाले में डबरीपारा मोहल्ले के नाली का पानी एवं सिम्स के केवल कन्या छात्रावास के नाली का ही पानी बहाया जाता है। सिम्स अस्पताल का पानी सीधे नदी में नहीं बहाया जाता है। इसका निकास गोड़पारा की तरफ नगर निगम की मुख्य नाली में है। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *