Samachar Jagat

Covdi-19 Cases In Delhi : दिल्ली में 24 घंटे में 24 हजार से ज्यादा केस, 249 की मौत, 7000 आईसीयू बैड की जरूरत, केंद्र की ओर से मिले मात्र 2000

इंटरनेट डेस्क। देशभर में कोरोना के मामले अब दुनिया में सबसे तेज गति से बढ़ रहे हैं। पिछले 24 घंटे के मामलों ने अमरीका तक को पीछे छोड़ दिया है। देश में महाराष्ट्र, दिल्ली, छत्तीसगढ़, यूपी सहित कई राज्यों के हालात बेहद खराब हैं। दिल्ली में पिछले 24 घंटे में 24,500 से ज्यादा कोरोना पॉजिटिव केस सामने आए हैं। वहीं एक ही दिन में 249 लोगों ने इस दौरान दम तोड़ा है। दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री ने एक बयान में कहा है कि विभिन्न अस्पतालों में स्थिति अलग है। हम इसे सहज स्थिति नहीं कह सकते। दिल्ली के अस्पतालों में ऑक्सीजन की कमी को लेकर भी उन्होंने चिंता जताई है।

 

There is a crisis of ICU beds. We have made a request to the Centre, I think they will give us 700-800 ICU beds soon. We have demanded 7000 beds in Central government-run hospitals, they have given us around 2000: Delhi Health Minister Satyendar Jain#COVID19 pic.twitter.com/xzroN2kqD8
— ANI (@ANI) April 22, 2021

दिल्ली में बढ़ रहे मामलों के बीच दिल्ली सरकार के स्वास्थ्य मंत्री सत्येन्द्र जैन ने चिंता जताई है। उन्होंने आज गुरुवार को एक बयान में दिल्ली में आईसीयू बैड की कमी को लेकर केंद्र सरकार से गुहार लगाई है।

 

Situation is different in different hospitals; 6 hours in some, 8 in others 10 in some others. We can’t call this a comfortable situation: Delhi Health Minister Satyendar Jain when asked about situation of Oxygen in Delhi hospitals & how long will Oxygen last in each of them pic.twitter.com/T85WWL8gDI
— ANI (@ANI) April 22, 2021

एएनआई न्यूज एजेंसी के अनुसार, आज गुुरुवार को दिल्ली सरकार में स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने कहा है कि दिल्ली में लगातार आईसीयू बैड की कमी आ रही है। इसको लेकर हमने केंद्र से बात की है। उन्होंने कहा कि केंद्र ने जल्द ही राज्य को करीब 700-800 बैड देने की बात कही है। हालांकि उन्होंने बताया है कि दिल्ली में केंद्र सरकार द्वारा संचालित अस्पतालों में करीब 7000 बैड की आवश्यकता है। केंद्र की तरफ से अब तक 2000 के आसपास बैड उपलब्ध कराए हैं।

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *