Dr. Charandas Mahant, From Speaker of Lok Sabha, For students trapped in Kota, Help,

डॉ महंत के कोटा में फंसे छात्रों के लिए लोकसभा अध्यक्ष से मांगी मदद

ओम बिरला ने विधान सभा अध्यक्षों से की वीडियो कॉन्फ्रेसिग

रायपुर(realtimes) लोकसभा अध्यक्ष एवं सभापति, अखिल भारतीय पीठासीन अधिकारी सम्मेलन ओम बिरला ने आज राज्य विधान मंडलो के पीठासीन अधिकारियों से कोरोना वायरस के संक्रमण तथा उससे बचाव एवं रोकथाम के लिए किए जाने वाले उपाय तथा लॉक डाऊन के दौरान विधायिका के क्रिया कलाप से संबंधित विभिन्न विषयों पर वीडियो कॉन्फ्रेसिंग के माध्यम से चर्चा की।

छत्तीसगढ़ विधानसभा अध्यक्ष डॉ. चरणदास महंत (Dr. Charandas Mahant)अपने निवास कार्यालय “स्पीकर हाऊस” शंकर नगर से वीडियो कॉन्फ्रेसिंग के माध्यम से इस चर्चा में शामिल हुए।

कोरोना संक्रमण से उत्पन्न स्थिति पर चर्चा करते हुए विधान सभा अध्यक्ष चरणदास महंत ने बताया कि 20 अप्रैल की स्थिति तक छत्तीसगढ़ में कुल 36 सेम्पल पॉजिटिव पाये गये और 25 मरीज ठीक होकर घर जा चुके हैं और फिलहाल केवल 11 कोरोना पॉजिटिव मरीज का एम्स, रायपुर में ईलाज चल रहा है।

विधान सभा अध्यक्ष ने लॉकडाउन के दौरान विधायिका के क्रियाकलाप विषय पर चर्चा करते हुए बताया कि- 16 मार्च से सदन में बजट पर सामान्य चर्चा प्रारंभ होनी थी लेकिन कोविड-19 महामारी के संभावित प्रभाव के देखते हुए विधान सभा की कार्यवाही 16 मार्च को ही 26 मार्च तक के लिये स्थगित कर दी गयी। दिनांक 26 मार्च को ही वर्ष 2020-21 का बजट बिना चर्चा के पारित कर उसी दिन सभा की कार्यवाही अनिश्चितकाल के लिये स्थगित कर दी गई।

डॉ. चरणदास महंत ने कोटा जो कि लोकसभा अध्यक्ष का लोकसभा निर्वाचन क्षेत्र है जहॉ आज भी छत्तीसगढ़ के हजारों छात्र अध्ययनरत् हैं,  उनकी कुशल घर वापसी के प्रति चिंता व्यक्त की। चर्चा में मान. लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला ने आश्वस्त किया कि-कोटा उनका लोकसभा निर्वाचन क्षेत्र है इसलिए वे उन सभी छात्रों के अभिभावक है और उन सभी छात्रों की जिम्मेदारी उनकी है। उन्होंने कहा कि-जिन राज्यों से आपसी चर्चा के बाद छात्रों की वापसी हेतु सहमति बन रही है उन्हें वैसी सुविधा उपलब्ध कराते हुए छात्रों की कुशल घर वापसी हेतु वे कृत संकल्पित हैं । इस विषय पर जो भी सहयोग होगा वे उसके लिए वे सदैव तत्पर रहेंगे।

डॉ. महंत ने प्रदेश के जो मजदूर अभी अन्य राज्यों में फंसे है और अभी तक वापस नहीं लौटे हैं उनकी भी घर वापसी के लिए चिंता व्यक्त की। डॉ. महंत ने लोकसभा अध्यक्ष के साथ अपनी चर्चा में लोकसभा निर्वाचन क्षेत्र कोरबा एवं जांजगीर चांपा जिले में “अनाज बैंक”  प्रारंभ करने की योजना की जानकारी देते हुए इस पुनीत कार्य के लिए हर संभव मदद करने की अपील की।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *