Even in the coronary period, people are not giving up the temptation of liquor, neither drinkers nor drinkers, bid 1 thousand crores in this district of Rajasthan to get a contract for alcohol ..! | national News in Hindi

इंटरनेट डेस्क। कोरोनाकाल में भी लोग शराब का मोह नहीं छोड़ पा रहे हैं। न ही पीने वाले मान रहे हैं और न ही पिलाने वाले। राजस्थान के दौसा जिले में शराब से जुड़ा एक ऐसा ही अनोखा मामला सामने आए है जिसके बारे में जानकर हर कोई हैरान है। दरअसल यहां शराब का ठेका हासिल करने के लिए एक शख्‍स इतना बेचैन था कि उसने इसे पाने के लिए 999 करोड़ रुपये से अधिक की बोली लगा दी।

देखिये शराब से जुड़ा मामला है इसलिये ये दारू के ठेके की बोली 999 करोड़ रुपये पर ही नहीं रुकी बल्कि एक और प्रतिद्वंदी ने उससे भी बढ़कर बोली लगा दी। कीमत इतनी बढ़ गई कि शराब के ठेके के लिए चल रही ऑनलाइन बोली में कम्प्यूटर सिस्टम तक हैंग हो गया। राशि की सीमा खत्म हो गई। आखिर में दोनों तब जाकर रुके। दारू के ठेके को पाने के लिए हजारों करोड़ों तक पहुंची ये बोली चर्चा का विषय बन गई। दौसा जिले के साहपुर पाखर गांव के शराब के ठेके के लिए ऑनलाइन बोली में गांव के करण सिंह गुर्जर और नवल किशोर मीणा भाग ले रहे थे।

जिले के आबकारी अधिकारी अनिल कुमार जैन ने बताया कि प्रथम बोलीदाता करण सिंह गुर्जर ने 999 करोड़ 99 लाख 95 हजार 216 रुपए की बोली लगाई। वहीं नवल किशोर मीणा ने 999 करोड़ 99 लाख 90 हजार 216 रुपए की बोली लगाई। दोनों की बोली मिलाकर जब आंकड़ा 1000 हजार करोड़ पार गया तो सिस्टम हैंग हो गया और बोली यहीं रुक गई। वरना दोनों इस ठेके की बोली को और आगे ले जाते। ये मामला देशभर में वायरल हो रहा है।

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *