Helpful: In Chamoli disaster, the father of four daughters was taken away from the shadow, Lockdown’s messiah Sonu Sood extended his hand, four daughters were adopted| national News in Hindi

इंटरनेट डेस्क। कोरोना के पीक समय में लॉकडाउन के दौरान गरीबों और जरूरतमंदों के मसीहा बनकर उभरे अभिनेता सोनू सूद एक बार फिर मदद के लिए आगे आये हैं। इस बार उन्होंने उत्तराखंड ग्लेशियर त्रासदी के पीड़ितों को मदद पहुंचाई है। 

सोनू सूद चमोली आपदा के पीड़ि‍त परिवार का सहारा बने हैं। उन्होंने टिहरी जिले की दोगी पट्टी के एक पीड़ि‍त परिवार की चार बेटियों को गोद लिया है। आपदा ने इन बच्चों के सिर से पिता का साया छीन लिया है। सिने अभिनेता की टीम ने पीड़ि‍त परिवार की मदद के लिए हाथ बढ़ाने की पुष्टि की।

सात फरवरी को चमोली जिले के तपोवन इलाके में हैंगिंग ग्लेशियर टूटने के बाद आई आपदा में बड़े पैमाने पर नुकसान हुआ था। नदियों के उफान और मलबे के साथ जो 204 लोग लापता हुए हैं, उनमें ज्यादातर तपोवन क्षेत्र में स्थापित ऋषिगंगा और विष्णुगाड जल विद्युत परियोजना में काम करने वाले थे। इनमें 62 के शव मिल गए, बाकी की तलाश जारी है।

45 वर्षीय आलम सिंह विष्णुगाड जल विद्युत परियोजना से जुड़ी ऋत्विक कंपनी में इलेक्ट्रीशयन के पद पर कार्यरत थे। जल प्रलय के दिन आलम सिंह परियोजना की टनल के भीतर काम करने गए थे, लेकिन उसके बाद लौटे नहीं। चार मासूम बच्चों आंचल (14), अंतरा (11), काजल (08) व दो वर्षीय अनन्या की जिम्मेदारी का बोझ उनकी पत्नी पर ही आ गया है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *