‘Internal issue – foreign infiltration’: Central government angry over comments of foreign institutions in farmers’ demonstrations, MEA’s statement – Such people want to warm the atmosphere in India by breaking the statue of Mahatma in America| national News in Hindi | ‘आतंरिक मुद्दा-विदेशी घुसपैठ’ : किसानों के प्रदर्शन में विदेशी संस्थानों की टिप्पणी पर केंद्र सरकार नाराज, MEA का बयान

इंटरनेट डेस्क। तीन नए कृषि कानूनों को निरस्त करने को लेकर देशभर में किसानों द्वारा प्रदर्शन किया जा रहा है। राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र में करीब दो महीनों से किसानों का प्रोटेस्ट जारी है। वहीं किसानों के प्रदर्शन में विदेशी लोगों के समर्थन पर आज बुधवार को केंद्र सरकार के आंतरिक मामलों के मंत्रालय ने चिंता जताई है। एक बयान में आतंरिक मंत्रालय ने एक प्रेस रिलीज जारी कर कहा है कि विदेश लोगों को देश के आंतरिक मसलों में दख़ल नहीं देनी चाहिये। 

 

It’s unfortunate to see vested interest groups trying to enforce their agenda on these protests, & derail them. This was egregiously witnessed on January 26: MEA on recent comments by foreign individuals and entities on the farmers’ protests pic.twitter.com/kBz6pRDplO
— ANI (@ANI) February 3, 2021

एएनआई की एक रिपोर्ट के अनुसार, मिनिस्ट्री आफ एक्सटर्नल अफ्फै़र्स ने कहा है कि किसानों के प्रदर्शन में विरोध कर अपना एजेंडा लागू करने और उन्हें पटरी से उतारने की कोशिश कर रहे निहित स्वार्थी समूहों का ये कार्य चिंताजनक तो है ही साथ ही ये देश के लिए खतरनाक साबित होगा। विदेशी व्यक्तियों और संस्थाओं द्वारा हाल ही किसानों पर की गई टिप्पणियों पर मंत्रालय ने अपना पक्ष रखा है।

मंत्रालय ने ख़ासतौर पर अमरीका में हाल ही महात्मा गांधी की पुण्यतिथि शहीद दिवस पर उनकी प्रतिमा तोड़ जाने का भी ज़िक्र किया। बयान में कहा गया है कि अमरीका में महात्मा गांधी की प्रतिमा तोड़ना भारत में चल रहे माहौल को गर्म करना है जो दूसरी विचारधाराओं वाले लोग कर रहे हैं।

वे नहीं चाहते हैं कि भारत में वर्तमान सत्ता केंद्र में मौजूद रहे। ऐसे लोग किसी भी मुद्दे में पीएम नरेन्द्र मोदी को जबरन लेकर आ रहे हैं।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *