Lok Sabha में विपक्ष का हँगामा, एक घंटे के लिए कार्यवाही स्थगित

नयी दिल्ली।किसानों के मद्दे पर लोकसभा में काँग्रेस तथा अन्य विपक्षी दलों ने आज हँगामा किया जिसके कारण कार्यवाही एक घंटे के लिए स्थगित करनी पड़ी। काँग्रेस के नेता अधीर रंजन चौधरी ने सदन में किसानों का मुद्दा उठाते हुए कहा कि सरकार ने सोमवार को गेहूँ के न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) में 5० रुपये यानी 1.85 प्रतिशत की बढोतरी की है, जो पिछले 11 साल में सबसे कम है। उन्होंने कहा कि किसानों के मुद्दों को लेकर देश के विभिन्न राज्यों में लोग सड़कों पर उतरे हुए हैं। पंजाब के 9० प्रतिशत किसान सड़कों पर हैं।

श्री चौधरी ने माँग की कि इसी सत्र में संसद में पारित कृषक (सशक्तीकरण एवं संरक्षण) कीमत आश्वासन और कृषि सेवा पर करार विधेयक, 2०2० में यह प्रावधान हो कि किसानों से समझौता करने वाला व्यापारी एमएसपी से कम मूल्य का भुगतान नहीं कर सकेगा। उन्होंने कहा कि सरकार किसानों की आमदनी दोगुनी करने की बात कह रही है, लेकिन उसने स्वामिनाथन समिति के सिफारिश के अनुसार, 'सी2 प्लस फॉर्मूले पर एमएसपी तय नहीं किया है। उन्होंने रोजगार पर भी सरकार को घेरते हुए कहा कि भारतीय जनता पार्टी ने हर साल दो करोड़ रोजगार देने का वादा किया था जिसे पूरा नहीं किया गया है।

अध्यक्ष ने इसके बाद कांग्रेस नेता को बोलने की अनुमति नहीं दी। उन्होंने कहा कि किसानों के विधेयक पर सदन देर रात तक बैठकर विचार कर चुका है। इस पर कांग्रेस तथा अन्य विपक्षी दलों के दूसरे सदस्य अपने स्थानों से उठकर खड़े हो गये और नारेबाजी करने लगे।

तृणमूल कांग्रेस के कल्याण बनर्जी ने भी कहा कि जो बात श्री चौधरी उठा रहे हैं उनकी पार्टी उसका समर्थन करती है। अध्यक्ष ने उन्हें भी आगे नहीं बोलने दिया। इस दौरान विपक्ष का हँगामा जारी रहा। हँगामा थमता नहीं देखकर अपराह्न सवा तीन बजे के करीब श्री बिरला ने सदन की कार्यवाही एक घंटे के लिए स्थगित कर दी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *