RBI ने रेपो रेट चार फीसदी पर बरकरार रखने की घोषणा की

नई दिल्ली। भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) ने शुक्रवार को प्रमुख ब्याज दर यानी रेपो रेट (Repo Rate) चार फीसदी पर बरकरार रखने की घोषणा की। आरबीआई ने लगातार तीसरी बार रेपो रेट में कोई बदलाव नहीं किया है। रिवर्स रेपो रेट में भी कोई बदलाव नहीं हुआ है। केंद्रीय छह सदस्यीय मौद्रिक नीति समिति (MPC) की बैठक में लिए गए फैसले के बाद आरबीाई गनर्वर शक्तिकांत दास (Shaktikanta Das) ने रेपो रेट चार फीसदी पर बरकरार रखने की घोषणा की।

भारतीय रिजर्व बैंक के गवर्नर शक्तिकांत दास ने कहा कि मौद्रिक नीति समिति ने एकमत से पॉलिसी रेपो रेट को बिना किसी फेरबदल के 4% रखने के लिए वोट किया। MSF रेट और बैंक रेट बिना किसी बदलाव के साथ 4.25% है और रिवर्स रेपो रेट बिना किसी बदलाव के साथ 3.35% है।

इसके आगे उन्होंने कहा कि वर्ष 2021 के लिए जीडीपी ग्रोथ -7.5% रहने का अनुमान है। साथ ही कहा कि हम वित्तीय क्षेत्र की स्थिरता को बनाए रखने के लिए प्रतिबद्ध हैं और इसे करने के लिए जो भी जरूरी होगा हम करें।

रेपो रेट वह ब्याज दर है जिस पर केंद्रीय बैंक वाणिज्यिक बैंकों को अल्पकालीन ऋण मुहैया करवाता है। वहीं, रिवर्स रेट पर वह ब्याज दर है जिस पर केंद्रीय बैंक वाणिज्यिक बैंकों से जमा प्राप्त करता है। आरबीआई का रेपो रेट इस समय 4 फीसदी है जबकि रिवर्स रेपो रेट 3.35 फीसदी है। आरबीआई ने चालू वित्त वर्ष में आगे भी समायोजी रुख बनाए रखने का संकेत दिया है।

rbi

वहीं आरबीाई के इस फैसले से शेयर बाजार में जोरदार तेजी देखने को मिली। सेंसेक्स पहली बार 45,000 के पार पहुंच गया। आपको बता दें कि केंद्रीय बैंक इस साल फरवरी से रेपो दर में 1.15 फीसदी की कटौती कर चुका है। वहीं, आने वाले कुछ महीने अर्थव्यवस्था के लिए काफी महत्वपूर्ण हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *