Sawai Madhopur: This senior IAS officer of Rajasthan broke the social tradition that has been going on for years, his exemplary initiative towards social reform is being appreciated, Read what he did ..?| national News in Hindi

इंटरनेट डेस्क। राजस्थान के एक वरिष्ठ आईएएस अधिकारी ने आज गुरुवार को समाज सुधार की दिशा में कदम बढ़ाते हुए एक बड़ा निर्णय लिया है। वरिष्ठ ब्यूरोक्रेट आईएएस अधिकारी कृषि एवं उद्यानिकी विभाग के प्रधान सचिव कुंजीलाल मीणा ने अपनी मां के निधन पर मृत्युभोज (नुक्ता) नहीं करने का फैसला किया है। न्यूज 18 की एक ख़बर के अनुसार, उनकी इस अनुकरणीय पहल को सराहा जा रहा है। साथ ही मीणा ने कहा है कि वे मृत्युभोज पर खर्च होने वाली धनराशि को जरूरतमंदों की शिक्षा में खर्च करेंगे। इस पहल के लिए उन्होंने बकायदा पूरे परिवार सहित शपथ-पत्र देकर नुक्ता प्रथा बंद करने का ऐलान किया है।

बताते चलें कि हाल ही 27 फरवरी को कुंजीलाल मीणा की मां गुलबाई का निधन हो गया था। मीणा राजस्थान के सवाई माधोपुर जिले की बामनवास तहसील के रामसिंहपुरा गांव के निवासी हैं।  वे राज्य में विभिन्न अहम पदों पर कार्य कर चुके हैं। फिलहाल मीणा कृषि विभाग की जिम्मेदारी संभाल रहे हैं।

कुंजीलाल मीणा ने इस मौके पर लोगों को संदेश भी दिया है। उन्होंने कहा कि मृत्युभोज और नशे पर पैसा न खर्च करके हमें उस पैसे से जरूरतमंद बच्चों की शिक्षा पर ध्यान देना चाहिये। इससे व्यक्ति के साथ-साथ समाज में सुधार संभव है। शिक्षित व्यक्ति सही मायने में संसार में सबसे अधिक धनी व्यक्ति होता है। उन्होंने कहा कि शिक्षित व्यक्ति हर जगह सम्मान पाता है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *