Returned from Kota, Students, Will live in quarantine center,

कोटा से लौटे छात्र-छात्राएं क्वारंटाईन सेंटर में रहेंगे

रायपुर. मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की पहल और निर्देशन पर राजस्थान के कोटा शहर में कोचिंग कर छत्तीसगढ़ के छात्र-छात्राओं की आज सुबह सकुशल अपने राज्य छत्तीसगढ़ वापसी संभव हो सकी है। छात्र-छात्राओं की सकुशल वापसी में प्रशासन, पुलिस, परिवहन, चिकित्सा अधिकारियों के साथ ही वाहन चालक और उनके परिचालकों की अहम भूमिका रही है।

सकुशल अपने राज्य वापसी पर छात्र-छात्राएं जहां खुश है वहीं उनके अभिभावकों ने भी राहत की सांस ली है। ज्ञातव्य है कि राजस्थान का कोटा शहर कोरोना वायरस (कोविड-19) के संक्रमण की दृष्टि से एक हाॅट स्पाॅट सेन्टर चिन्हित है। यहां कई पाॅजिटिव केस पाए गए है। कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव के लिए भारत सरकार द्वारा जारी गाईडलाईन के तहत और प्रदेशवासियों की सुरक्षा के मद्देनजर कोटा से लौटने वाले सभी छात्र-छात्राओं को क्वारेंटाईन में रखना बहुत जरूरी था। इसे देखते हुए राज्य सरकार द्वारा सभी छात्र-छात्राओं को क्वारेंटाईन में रखा गया है।

राज्य सरकार द्वारा पहले ही मीडिया और अन्य माध्यमों से छात्र-छात्राओं के अभिभावकों को इसके बारे में अवगत कराया गया था। कोटा से वापसी छात्र-छात्राओं के लिए स्वैच्छिक था। क्वारेंटाईन सेंटरों में छात्र-छात्राओं के लिए अलग-अलग सभी आवश्यक व्यवस्था सुनिश्चित करायी गई है। इन सेंटरों में छात्र-छात्रों के रहने, खाने-पीने के साथ ही अन्य आवश्यक व्यवस्थाओं के साथ ही सुरक्षा के पर्याप्त प्रबंध किए गए है।   

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *