Success Story: B Prak from Bachchan and Prateek to Prak, B Prak became like this, the sound of the painful songs of ‘Jani’ has become the first choice by the youth, in just 2 years this face has become popular| entertainment News in Hindi

एंटरटेनमेंट डेस्क। बी. प्राक। पंजाबी फिल्म इंडस्ट्री से जुड़ा ये नाम बॉलीवुड के सबसे उभरते गायकों में शुमार हो रहा है। बी. प्राक का पूरा नाम प्रतीक बच्चन है। उन्होंने अपने नाम बच्चन से B और प्रतीक Prateek के अंग्रेजी मीनिंग से prak लेकर खुद को बी.प्राक के नाम से नई पहचान दी। लाइट सॉन्ग इनकी टीएसपी है। वहीं पिछले दो सालों से पूरा भारत ही नहीं बल्कि दुनियाभर में इनके गीत संगीत को पसंद किया जा रहा है। बी. प्राक को भारत सरकार के केंद्रीय संस्कृति मंत्रालय ने तेरी मिट्टी में मिल जावां…गीत के लिए 67वें राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार के लिये बेस्ट मेल प्लेबैक सिंगर का खिताब मिला है।

फिल्म केसरी के तेरी मिट्टी में मिल जावां, गुल बनके मैं खिला जावां… गीत से उन्होंने युवाओं के साथ-साथ हर उम्र के लोगों को अपना दीवाना बना लिया है। वहीं पंजाब से निकले एक और युवा गीतकार जॉनी जोहान के साथ उनकी जोड़ी इस समय बहुत पसंद की जा रही है। जॉनी और बी.प्राक की जोड़ी ने यूं कहें की यूट्यूब पर धमाल मचा रखा है। 

बी. प्राक को पहली कामयाबी पंजाबी गीत मन भरेया से प्रसिद्धि मिली थी। उनके पिता वरिंदर बच्चन लोकप्रिय पंजाबी संगीत निर्देशक हैं। बी प्राक के पिता वरिंदर के दोस्त सौभाग्य वर्धन ने बताया कि पिता से बी प्राक को संगीत की सीख मिली। उन्हें लाइट म्यूजिक शुरू से काफी पसंद रहा, बेटे को भी उन्होंने लाइट म्यूजिक की सीख दी, क्योंकि आजकल युवाओं की पसंद भी लाइट म्यूजिक है।

करीब 10 साल के अथक प्रयास के बाद बी प्राक लगातार अपने गीतों के माध्यम से युवाओं के दिलों पर राज करने लगे। बी प्राक का जन्म चंडीगढ़ में हुआ था। वह चंडीगढ़ सेक्टर-21 में पले-बढ़े। उन्होंने बताया कि संगीत की पृष्ठभूमि वाले परिवार से थे, इसलिए उनका झुकाव बचपन से संगीत की ओर था। वह गायक बनना चाहते थे और अक्सर अपनी मां के साथ गाने के बारे में अपनी इच्छाओं को साझा करते थे। उन्होंने बताया कि बाद में पूरे परिवार के साथ वह पंजाब के जीरकपुर में शिफ्ट हो गए थे।

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *