world Bank, GDP growth of India, Estimate reduced,

अब विश्व बैंक ने भारत के जीडीपी ग्रोथ का अनुमान घटाया

मोदी सरकार को आर्थिक मोर्चे पर एक और झटका

नयी दिल्ली. केंद्र की मोदी सरकार को आर्थिक मोर्चे पर एक और झटका लगा है। अब विश्व बैंक ने भारत के जीडीपी ग्रोथ के अनुमान को घटा दिया है। वर्ल्ड बैंक के अनुसार, वित्त वर्ष 2019-2020 में भारत की जीडीपी में बढ़त दर सिर्फ 5 प्रतिशत तक रह सकती है। इसके बाद अगले वित्त वर्ष में भी भारत के जीडीपी में सिर्फ 5.8 प्रतिशत बढ़त का अनुमान है। विश्व बैंक के ग्लोबल इकोनॉमिक प्रोस्पेक्ट्स रिपोर्ट में कहा गया है कि भारत में गैर बैंकिंग वित्तीय कंपनियों का कर्ज वितरण कमजोर बना हुआ है।

विश्व बैंक की रिपोर्ट में कहा गया है कि भारत से तेज आर्थिक बढ़त दर बांग्लादेश की होगी। रिपोर्ट के मुताबिक, बांग्लादेश में इस वित्त वर्ष में जीडीपी में 7 प्रतिशत से ज्यादा की बढ़ोतरी हो सकती है। वहीं, पाकिस्तान की जीडीपी में इस वित्त वर्ष में सिर्फ 3 प्रतिशत की बढ़त हो सकती है।

इससे पहले केंद्र मोदी सरकार ने भी कुछ इसी तरह के अनुमान लगाए थे। मंगलवार को केंद्र सरकार की ओर से जीडीपी के पूर्वानुमान के आंकड़े पेश किए गए थे। आकड़ों के मुताबिक, वित्त वर्ष 2019-20 में जीडीपी ग्रोथ सिर्फ 5 प्रतिशत रह सकती है। इससे पहले 2018-19 में वास्तविक ग्रोथ 6.8 प्रतिशथ रही थी। वित्त वर्ष 2017-18 में जीडीपी ग्रोथ 7.2 प्रतिशत थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *